comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

नागपुर से भूखे-प्यासे पैदल लौटे 78 मजदूर, समाजसेवियों ने की खाने की व्यवस्था

नागपुर से भूखे-प्यासे पैदल लौटे 78 मजदूर, समाजसेवियों ने की खाने की व्यवस्था


डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा।कोरोना वायरस के अलर्ट के बाद पूरे देश में लॉकडाउन कर दिया गया है। महाराष्ट्र, गुजरात समेत अन्य राज्यों में मजदूरी के लिए गए छिंदवाड़ा जिले के अलग-अलग क्षेत्रों के मजदूर भी वापस लौट रहे है। नागपुर से छिंदवाड़ा आने के लिए साधन न मिलने पर लगभग सौ मजदूर पैदल ही छिंदवाड़ा आ गए है। पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने ईएलसी चौक पर रोका। यहां जांच टीम ने सभी मजदूरों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। इनमें से कोई भी मजदूर बीमारी से ग्रसित नहीं मिला है।
स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बताया कि गुरुवार को नागपुर से लगभग 78 मजदूर पैदल ही छिंदवाड़ा लौटे थे। सभी मजदूरों को ईएलसी चौक पर रोककर  स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। नागपुर से लौटे मजदूरों के अलावा भोपाल, गुजरात और इंदौर समेत आसपास के राज्यों से आए विद्यार्थियों और कामगारों के घर पहुंचकर स्वास्थ्य की जांच की गई।  
प्रशासन ने भोजन, परिवहन की बनाई व्यवस्था-
नागपुर से लौटे मजदूरों को ईएलसी पर रोककर जांच के बाद प्रशासन ने सभी के लिए भोजन की व्यवस्था कराई। यातायात डीएसपी सुदेश सिंह ने बताया कि सभी मजदूरों को भोजन के पैकेट दिए गए है। इसके अलावा तामिया और अमरवाड़ा के लिए बसों की व्यवस्था बनाई गई है। जिसके माध्यम से मजदूरों को उनके गांव तक छोड़ा गया।
टीम ने 134 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया-
पिण्डरईकला स्वास्थ्य केन्द्र की टीम ने गुरुवार को 134 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया है। यह सभी लोग अन्य राज्यों से छिंदवाड़ा लौटे है। इनमें बुधवार शाम को मिले मजदूरों के अलावा भोपाल, इंदौर, दिल्ली, मुंबई समेत अन्य स्थानों से आए विद्यार्थियों की भी जांच की गई। जांच के बाद इन सभी लोगों को होमआईसोलेशन में रहने की हिदायत दी गई है।
कामगारों को प्रदेश सीमा से बाहर किया-
कोरोना अलर्ट के बाद नागपुर से बाहर किए गए मजदूर गुरुवार को पैदल पारडसिंगा पहुंचे। तीस मजदूरों को महाराष्ट्र प्रशासन ने लॉकडाउन के बाद छिंदवाड़ा लौटा दिया है। पुलिस टीम ने सभी कामगारों को एक मीटर की दूरी रखने की हिदायत दी। वहींऔद्योगिक क्षेत्र होने की वजह से कई कामगार यहां फंसे हुए है जो अपने गांव नहीं लौट पा रहे है।
रेलवे लाइन के सहारे लौट रहे राजस्थान-
राजस्थान से मकान निर्माण के लिए छिंदवाड़ा आए तीन मजदूर लॉकडाउन के बाद परिवहन व्यवस्था न होने से रेलवे लाइन के सहारे राजस्थान जाने निकले है। गुरुवार को इकलहरा रेलवे स्टेशन पहुंचे तीनों मजदूर पुखराज, पिंटू और अशोक ने बताया कि वे मकान निर्माण कार्य करते है। लॉकडाउन होने पर ठेकेदार ने बिना मजदूरी दिए कामबंद कर दिया। राशन पानी की दिक्कत होने पर वे रेल लाइन के सहारे राजस्थान के लिए निकले है। बुधवार को छिंदवाड़ा से निकले मजदूरों के लिए स्थानीय लोगों ने भोजन की व्यवस्था की। बड़कुही चौकी प्रभारी अभिषेक प्यासी ने बताया कि तीनों मजदूरों की परासिया में ठहरने की व्यवस्था बनाई गई है। तीनों को राजस्थान भेजने व्यवस्था बनाई जा रही है।

कमेंट करें
bXHo8