दैनिक भास्कर हिंदी: पेंच में नर शावक की मौत, बांधवगढ़ में कुएं में मिला मादा बाघिन का शव

September 26th, 2017

डिजिटल डेस्क  सिवनी ।  पेंच टाइगर  रिजर्व अंतर्गत कर्माझिरी परिक्षेत्र में नर शावक का शव मिलने से वन महकमे में हड़कंप मच गया।
टाइगर का शव कर्माझिरी के बाघदेव संतोषा बीट कक्ष क्रमांक 595  पिट्टे झिरिया तालाब के पास मिला है। गस्तीदल द्वारा सूचना दिए जाने के बाद पेंच नेशनल पार्क के क्षेत्र संचालक सहित वन अमला मौके पर पहुंच गया था। मृतक नर शावक की उम्र तकरीबन डेढ़ साल बताई जा रही है। इसी तरह उमरिया के बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में सोमवार को मादा बाघिन का सड़ा गला शव कुएं में देखा गया है। घटना मगधी रेंज मिल्ली बीट में सुबह की बताई गई है। दो वर्षीय मादा का शव तकरीबन 60 फीसदी बुरी तरह क्षतिग्रस्त है। घटना की खबर मिलते ही पार्क प्रबंधन में हड़कंप की स्थिति है। माना जा रहा है कि बाघिन की मौत काफी दिनों पहले हुई थी। हालांकि घटना के विषय में बांधवगढ़ से भोपाल तक कोई कुछ कहने की स्थिति में नहीं है। सुबह उजागर हुई इस घटना के बाद से देर शाम तक बीटीआर अधिकारियों के नंबर बंद हैं। घटना के संबंध में एपीसीसीएफ भोपाल आरपी सिंह का कहना है फील्ड अधिकारियों द्वारा मुझे जानकारी नहीं दी गई है। बाघ मौत का मामला है। हो सकता है सभी जंगल के अंदर हो। जानकारी तो उन्हें बताना ही पड़ेगा। गौरतलब है कि चार दिन बाद टाईगर रिर्जव में पर्यटन का आगाज होने के पहले यह घटना कई सवालों का जन्म दे रही है।
जांच में मिले बड़े शावक के पदचिन्ह
पेंच के क्षेत्र संचालक शुभरंजन सेन ने बताया कि सतोषा बीट के कक्ष क्रमांक 595 में पिट्टे झिरिया तालाब पास नर शावक के मृत होने की सूचना मिलने के बाद घटना स्थल की जांच मैटल डिटेक्टर एवं डॉग स्क्वॉड के माध्यम से कराई गई। जिसमें शिकार किए जाने जैसे कोई साक्ष्य नहीं मिले बल्कि जांच के दौरान अन्य बड़े नर बाघ के पदचिन्ह एवं कुदेरने,घसीटने के साक्ष्य पाए गए हैं।
 खोपड़ी पाई गई टूटी-
 शावक के समस्त अंग जैसे नाखून, दांत इत्यादि सुरक्षित पाए गए हैं। वन्यप्राणी चिकित्सक डॉक्टर अखिलेश मिश्रा, पेंच टाइगर रिजर्व, सिवनी द्वारा मृत बाघ शावक का पोस्टमार्टम क्षेत्र संचालक, संयुक्त संचालक, सहायक वनसंरक्षक सिवनी क्षेत्र, परिक्षेत्राधिकारी, वन अमले तथा मनोनीत सदस्य
ज्योतिर्मय जेना की उपस्थिति में किया गया। पोस्टमार्टम में मृत बाघ शावक की खोपड़ी की हड्डियॉं टूटी पाई गईं जिससे स्पष्ट है कि बाघ शावक को अन्य बड़े नर बाघ द्वारा मारा गया है। शव परीक्षण उपरांत मृत बाघ शावक के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया है। क्षेत्र संचालक शुभरंजन सेन ने बताया कि पोस्टमार्टम की कार्यवाही के दौरान घटना स्थल के समीप ही नर बाघ की कॉलिंग सुनाई दे रही थी। कार्यवाही उपरांत जब वापस मुख्यालय लौटा जा रहा था उस दौरान एक नर बाघ को सड़क पर प्रत्यक्ष रूप से देखा गया है।