दैनिक भास्कर हिंदी: क्राईम से जुड़ी खबरों में एक नजर- कहीं धोखाधड़ी, तो कहीं उत्खनन का गोरखधंधा

January 22nd, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर में विश्वासघात की दो खबरें आई हैं। पहले मामले में इलेक्ट्रिकल्स की दुकान में काम करने वाले 4 नौंकरों ने ही माल बेच दिया। दूसरे मामले में ट्रांसपोर्ट के सुपरवाइजर और चालक ने ही ट्रक से मिर्च और सुपारी चुराकर बेच डाला। इलेक्ट्रिकल्स की दुकान में काम करनेवाले चार नौकरों ने दुकान मालिक के साथ दगाबाजी कर गोदाम से करीब साढ़े 5 लाख रुपए का केबल चुराकर ले गए। अजनी पुलिस ने इस मामले में बुधवार को चोरी का मामला दर्ज किया। पुलिस सूत्रों के अनुसार, कैलाश गोविंदराव शिवणकर (42) की ओंकारनगर चौक के पास इलेक्ट्रिकल सामग्री की दुकान है। उनके पास विवेक बालेन्द्र सेन, पंकज हेडाऊ, संकेत अशोक गिरगुते और प्रदीप राजेंद्र चंदनकर काम करते हैं। इन चारों ने मिलीभगत कर शिवणकर के गोदाम में रखे एचपीएल कंपनी के 5 लाख 37 हजार रुपए के 450 केबल बंडल चुराया और उसे बेच डाला। गोदाम से केबल का बंडल चोरी होने की बात ध्यान में आने पर शिवणकर ने अजनी थाने में शिकायत की। पुलिस ने चोरी का मामला दर्ज किया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

1.43 लाख की सुपारी और मिरची बेच दी

लकड़गंज के एक ट्रांसपोर्टर ने सुपरवाइर और ट्रक चालक के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। आरोपियों के नाम ट्रक चालक आनंद मोरे (36) जलगांव पिंपरी, स्वामी समर्थ हॉल के सामने जलगांव, सुपरवाइजर श्रवण भाटे (50) जलगांव, खानदेश निवासी हैं। दोनों पर आरोप है कि ट्रक में लदा हुआ 25 बोरे सुपारी व 52 बोरे मिरची में से 4 बोरे सुपारी और 5 बोरे मिरची सहित 1,43,000 रुपए का माल नागपुर से जलगांव के दरमियान रास्ते में निकालकर बेच डाला। दोनों आरोपियों ने ट्रांसपोर्टर अश्विन दुबे के साथ विश्वासघात किया। पुलिस सूत्रों के अनुसार शांतिनगर निवासी अश्विन राजेंद्रप्रसाद दुबे (37) का ट्रांसपोर्ट का कारोबार है। उनका चिंतेश्वर मंदिर के पास क्वेटा कालोनी में पंकज रोड लाईन्स नामक ट्रान्सपोर्ट का कार्यालय है। उन्होंने लकडगंज थाने में शिकायत दर्ज कराई है कि 12 से 15 जनवरी के दरमियान आरोपी ड्रायव्हर आनंद मोरे और श्रवण भाटे ने ट्रक में लदे 77 बोरे सुपारी व मिर्ची के बोरे में से 1 लाख 2 हजार रुपए की 5 बोरे सुपारी व 41 हजार रुपए की 4 बोरे मिरची ट्रक से निकालकर बेच दिया। उक्त दोनों आरोपियों ने ट्रांसपोर्टर दुबे के साथ विश्वासघात किया। लकड़गंज पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

मिहान डिपो से 1.37 करोड़ रुपए का मुरुम चोरी

सोनेगांव थाना क्षेत्र के भारतीय कंटेनर निगम मिहान डिपो में उत्खनन कर करीब 1 करोड़ 37 लाख 90 हजार रुपए का मुरुम चोरी होने का मामला सामने आया है। मुरुम चोरी प्रकरण कंटेनर डिपो के विजिलेंस दस्ते (दक्षता पथक) ने उजागर किया। इस प्रकरण में कंटेनर डेपो के उप महाप्रबंधक संजय नलवाडे की शिकायत पर सोनेगांव पुलिस ने चोरी का मामला दर्ज किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, सोनेगांव परिसर में भारतीय कंटेनर निगम मिहान डेपो, नागपुर ने कंटेनर डिपो में लेबल ब्लॉक डेवलपमेंट के काम का ठेका राजनांदगांव के मेसर्स दास कंपनी को दिया है। इस कंपनी ने नागपुर की आदित्य इंटरप्राइजेस कंपनी को ठेका दिया। उसके बाद पोकलैन, जेसीबी, डंपर आदि वाहन कंटेनर डिपो के अंदर आने जाने की अनुमति मिली और ब्लॉक डेवलपमेंट के काम की शुरुआत हुई। 4 फरवरी 2020 को मेसर्स दास कंपनी के मुख्य प्रबंधक ने पत्र द्वारा लिखित रूप से बताया कि उनके करारनामा के अनुसार, लेवल ब्लॉक डेवलपमेंट का आवश्यक काम पूरा हो गया। इस कारण अब खुदाई का काम रोका जाए। पत्र में खुदाई का काम रोकने की बात की गई थी। उसके बाद भी ठेकेदार ने दूसरी जगह पर उत्खनन शुरू रखा। महीने भर में उत्खनन कर करीब 15 से 20 फीट गड्‌ढा खोदा गया और करीब 1 करोड़ 37 लाख 90 हजार रुपए का मुरुम मेसर्स आदित्य इंटरप्राइजेज के मालिक निलेश अवैध तरीके से चुराकर ले गया। इस दौरान कंटेनर डिपो के विजिलेंस दस्ते को जांच में गड्‌ढा खुदा नजर आया। उसने कंटेनर डिपो के मुरुम चोरी के बारे में वरिष्ठों को जानकारी दी। कंपनी के उप-महाप्रबंधक संजय नलवाडे (50) मुंबई निवासी ने सोनेगांव थाने में शिकायत की। उनकी शिकायत पर सोनेगांव पुलिस ने मुरुम चोरी का मामला दर्ज किया।

उत्खनन कर करोड़ों की गिट्टी निकलने का गोरखधंधा

ग्रामीण तहसील अंतर्गत खड़गांव के लोगों की परेशानी लगभग 3 दशकों से बरकरार है। सैकड़ों एकड़ जमीन से सालों से उत्खनन कर करोड़ों की गिट्टी निकलने का गोरखधंधा धड़ल्ले से जारी है। आला अधिकारी चुप्प हैं, इसलिए माफिया बेखौफ हैं। सूत्रों की मानें तो 30 से 35 सालों से यह धंधा चल रहा है। जिस क्षेत्र में यह खनन हो रहा है, उस ग्राम पंचायत की अनुमति तक नहीं ली गई है। खड़गांव क्षेत्र से रोजाना सैकड़ों गाड़ियां अवैध तरीके से गिट्टी, मुरुम की ढुलाई करती हैं। पटवारी व तहसील के आला अधिकारी की ओर से कोई कार्रवाई नहीं होने के कारण बेरोकटोक उत्खनन जारी है। जानकारी के अनुसार, लावा में 3 व खड़गाव ग्रामपंचायत में 34 क्रेशर व्यवसायी हैं। लावा के इन 3 व्यवसायियों ने पंचायत की अनुमति से दो क्रेशर शुरू किए हैंं, लेकिन ग्रामपंचायत खड़गाव के 34 व्यावसायियों मेें से कुछ ने ही अनुमति ली है। उसमें से भी ज्यादातर ने 5 साल से अनुमति का नवीनीकरण नहीं कराया है। जानकारी के अनुसार, इन व्यवसायियों पर कर के रूप में करीब 20 से 25 लाख रुपए बकाया हैं। कुछ ने भुगतान करने की बात कही है।

प्रेमिका ने शादी से मना किया तो फांसी लगाकर की आत्महत्या

उधर एक प्रेमी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली,मृतक का नाम कृष्णकुमार रहांगड़ाले (23), कलमना निवासी है। कृष्णकुमार को शराब की लत के कारण प्रेमिका ने शादी करने से इनकार कर दिया था पुलिस सूत्रों के अनुसार कृष्णकुमार के एक युवती से करीब दो साल से प्रेम संबंध थे,इसकी दोनों के परिजनों को भनक लगने पर परिजन भी उनकी शादी को लेकर आपस में बातचीत करने के लिए राजी हो गए थे।इस दौरान कृष्णकुमार को दोस्तों की संगत के चलते शराब पीने की लत लग गई और वह शराब का आदी हो गया। कृष्णकुमार के पिता ने उसे सुधारने के लिए मोबाइल शॉपी लगा कर दी कुछ दिन तक वह मोबाइल शॉपी चलाने के बाद फिर शराब पीने लगा,इससे मोबाइल शॉपी का कारोबार ठप पड़ गया। हर रोज शराब पीकर वह प्रेमिका के साथ विवाद करने लगा।इससे परेशान होकर प्रेमिका ने उससे शादी करने से इनकार कर दिया, इस बात को लेकर कृष्णकुमार काफी परेशान हो गया और गत मंगलवार को उसने घर में शाम 4 बजे छत में लगे पंखे के हुक में ओढ़नी बांधकर फांसी लगा ली। घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। कलमना पुलिस ने आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज किया है।

शहर में फल-फूल रहा है धंधा

गौरतलब है कि अपराध शाखा पुलिस के दस्ते ने बुधवार को ही तीन ड्रग्स तस्करों को गिरफ्तार किया है। दो तस्कर मुंबई से 56 ग्राम एमडी ड्रग्स लेकर एसटी बस से आए थे। मुंबई से आनेवाले दोनों तस्कर जैसे ही वेरायटी चौक के पास एसटी बस से नीचे उतरे, उन्हें दबोच लिया गया।

झांसा देकर महिला के गहने लेकर फरार

तहसील क्षेत्र में एक वृद्ध महिला को झांसा देकर युवक उसके गहने लेकर फरार हो गए। महिला को नकली नोटों का बंडल दिखाया। उस बंडल के ऊपर के नोट असली दिखने पर महिला उनके झांसे में आ गई। पुलिस सूत्रों के अनुसार, गोलीबार चौक निवासी शकुंतला गडीकर (69) मंगलवार की शाम सब्जी खरीदने गई थी। वह भारत माता चौक से टीबी वार्ड रोड, गणेश किराना दुकान के बगल में खड़ी हो गई। इस दौरान 20 से 25 वर्ष के दो युवक आए। उन्होंने खुद को व्यापारी बताते हुए शकुंतला से बातचीत शुरू कर दी। उसके बाद दोनों में से एक ने 3 लाख रुपए का बंडल निकाला और शकुंतला को दिखाने लगा। युवकों ने उन्हें बातों में उलझा कर उनसे कहा कि इस तरह से गहने पहनकर मंगलसूत्र और सोने की चूडियां पहनकर घूमा मत करो। शकुंतला को गहने निकालकर उसे रूमाल में बांधकर देने का नाटक किया। आरोपियों ने शकुंतला को रूमाल वापस देकर घर जाने के बाद खोलने की सलाह दी। घर जाकर जब रूमाल खोला तो उनके होश उड़ गए। रूमाल में कुछ भी नहीं था। शकुंतला को ध्यान में आ गया कि दोनों आरोपियों ने उसके साथ ठगी की। शकुंतला ने तहसील थाने में शिकायत की। पुलिस ने मामला दर्ज किया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

 

खबरें और भी हैं...