दैनिक भास्कर हिंदी: 110 लोगों के डीएनए टेस्ट के बाद जाकर पकड़ाया हत्या और रेप का आरोपी

July 17th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। वर्ष 2014 में 17 वर्षीय युवती के साथ दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या कर शव को झाड़ियों में फेंक दिया गया था। इस प्रकरण में मृतका और उसके परिवार को न्याय दिलाने के लिए एड. सुलेखा कुंभारे ने आंदोलन किया था। घटना के चार साल बाद डीएनए के आधार पर पुलिस ने अंतत: मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

5 मार्च 2014 को रामगढ़ निवासी 17 वर्षीय किशोरी सुबह शौच के लिए बाहर गई थी। मौके का फायदा उठाकर आरोपी ने पीड़िता के साथ दुष्कर्म कर उसकी हत्या कर दी थी। हत्या के बाद उसका शव पास की ही झाड़ियों में फेंक दिया था। काफी देर तक पीड़िता जब घर नहीं लौटी तो घर वालों ने खोजबीन शुरू की तो उसका शव झाड़ियों में क्षत-विक्षत हालत में मिला। पीड़िता के हत्यारे को गिरफ्तार करने के लिए एड. सुलेखा कुंभारे ने कामठी के उपजिला अस्पताल के सामने आंदोलन किया था। 

शहर में बना रहा तनाव
एक दिन पूरा कामठी बंद था। पूरे शहर में तनाव बना रहा। अंतत: रोष और गमगीन माहौल में पीड़िता का अंतिम संस्कार किया गया। लोगों ने उस समय पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए आवाज बुलंद की थी। मामला कामठी के नए थाने में दर्ज था। पुलिस आरोपी को खोज रही थी, लेकिन सफलता हाथ नहीं लग रही थी। संदेह के आधार पर कुछ युवकों को गिरफ्तार भी किया, लेकिन सबूत के अभाव में पुलिस को उन्हें छोड़ना पड़ा। बाद में प्रकरण की जांच कामठी के डीबी स्क्वॉड को सौंप दी गई।  

110 संदिग्धों का डीएनए टेस्ट करवाया गया
मामले की जांच कर कर रहे कामठी पुलिस थाने के सहायक पुलिस निरीक्षक देवाजी नराटे ने बताया कि अापराधिक प्रवृत्ति के लोग तथा संदिग्ध युवकों के कुल 110 लाेगों के डीएनए टेस्ट करवाए गए थे। इनमें से एक युवक का डीएनए मैच हो गया। मामले को और पुख्ता करने के लिए पुलिस ने मुंबई की प्रयोगशाला में जाकर डीएनए और नारको टेस्ट करवाए। पुष्टि होते ही रविवार को पुलिस ने उसी परिसर में रहने वाले यानी रामगढ़ के राकेश भिवालाल शेंदरे को गिरफ्तार कर लिया है। 

आरोपी 20 तक पुलिस रिमांड में
आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म और हत्या जैसी जघन्य घटना के लिए धारा 302, 201 और बलात्कार के लिए धारा 376, 77, सहधारा 4, 8 पोक्सो एक्ट तहत मामला दर्ज किया गया है। आरोपी को रविवार को ही विशेष न्यायालय में पेश कर 20 जुलाई तक उसका पीसीआर प्राप्त हुआ है। कार्रवाई वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक बापू ढेरे के मार्गदर्शन में एएसआई देवाजी नरोटे, सूरज भारती, रंजीत वानखेड़े और डीबी स्क्वॉड के पुलिस कर्मचारियों ने की।