comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

विदर्भ में किसान आंदोलन की गूंज : गडकरी के घर के सामने कांग्रेस का प्रदर्शन, धोत्रे के आवास के सामने हुआ मुंडन

विदर्भ में किसान आंदोलन की गूंज : गडकरी के घर के सामने कांग्रेस का प्रदर्शन, धोत्रे के आवास के सामने हुआ मुंडन

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कृषि कानून को लेकर केंद्र सरकार का निषेध करते हुए युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितीन गडकरी के आवास के सामने प्रदर्शन किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरोध में नारे लगाए गए। कार्यकर्ताओं ने कृषि कानून रद्द करने की मांग की। प्रदर्शन के दौरान कुछ कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लेकर छोड़ दिया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि केंद्र सरकार नए कृषि कानून के माध्यम से देश में महंगाई लादने जा रही है। किसानों को बड़े पूंजीपतियों व कॉरपोरेट्स के हवाले किया जा रहा है। किसानों के आंदोलन के बाद भी सरकार दबाव की नीति अपनाए हुए हैं। केंद्र सरकार के विरोध में आंदोलन तेज करने की चेतावनी भी दी गई। प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओं को प्रताप नगर पुलिस स्टेशन की पुलिस ने हिरासत में लेकर बाद में छोड़ दिया। प्रदर्शन में प्रदेश युवक कांग्रेस के महासचिव श्रीनिवासन नालमवार, महासचिव अजित सिंह, इरशाद शेख, तनवीर विद्रोही, धीरज पांडे, राहुल सीरिया, नेहा निकोसे, केतन रेवतकर, प्रणित जांभले, आसिफ शेख, पीयूष वाकोडीकर, अनुराग भोयर, , अक्षय हेटे, विश्वजीत कोवासे शामिल थे। 

दिल्ली आंदोलन के समर्थन में अनेक संगठनों ने किया प्रदर्शन

दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में सोमवार को अधिकांश जिलों में विभिन्न संगठनों ने मिलकर अलग-अलग तरीके से विरोध प्रदर्शन किया।

अमरावती में किसान संघर्ष समन्वय समिति और अन्य राजनीतिक दलों ने सैकड़ों किसानों के साथ सोमवार को जिलाधीश कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन किया। साथ ही वंचित बहुजन आघाड़ी ने रैली निकाली।

वर्धा में जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष धरना दिया गया।

यवतमाल में एक दिन का अनशन रखकर कृषि कानूनों को खारिज करने की मांग की गई।

चंद्रपुर में जन विकास सेना, जाट  सभा एवं आप पार्टी की ओर से जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष दोपहर 12 से 4 बजे तक एक दिवसीय सांकेतिक अनशन किया गया।

गोंदिया में भी आप ने सामूहिक उपवास आंदोलन किया।

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने केन्द्रीय मंत्री के निवास के सामने किया मुंडन

उधर अकोला में युवक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने केन्द्रीय मंत्री संजय धोत्रे के आवास के सामने आंदोलन कर मुंडन किया।

वाशिम में राकांपा ने जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष विशाल धरना आंदोलन किया गया। पूर्व राज्यमंत्री सुभाष ठाकरे ने अपने सम्बोधन में बताया कि केन्द्र सरकार केवल आश्वासन देकर जनता को गुमराह कर रही है। कृषि कानून को रद्द करवाने किसान कड़ाके की ठंड में आंदोलन कर रहे हैं। 

बसपा ने भी जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष धरना देकर किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ नारेबाजी की। 

खामगांव में किसान संघर्ष समिति ने दिया धरना

उधर बुलढाणा जिले में किसान संघर्ष समन्वय समिति की ओर से सोमवार को एसडीओ कार्यालय के सामने धरना आंदोलन किया गया।  इस कानून को रद्द करने के संदर्भ में एसडीओ को राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन भी सौंपा गया।     
 

कमेंट करें
oHsrM