दैनिक भास्कर हिंदी: नाना पटोले के बयान से अजित पवार नाराज, कहा था मुख्यमंत्री-गृहमंत्री मुझपर रखतें हैं नजर

July 12th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले के आरोपों से नाराज उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से चर्चा की है। इसको लेकर मुख्यमंत्री कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से चर्चा करेंगे। इस बीच सोमवार को पटोले ने अपने बयान पर सफाई दी। विवाद बढ़ने के बाद सोमवार को पटोले ने सफाई देते हुए कहा कि मैंने राज्य सरकार नहीं बल्कि केंद्र सरकार पर आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा कि महा विकास आघाडी सरकार में कोई मतभेद नहीं है। शिवसेना-राकांपा से हमारी कोई दुश्मनी नहीं है। भाजपा इस सरकार को अस्थिर करने में जुटी है। पर हम ऐसा होने नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा के पैर के नीचे की जमीन खिसक रही है। पटोले ने कहा कि निधि वितरण में कुछ भेदभाव की शिकायतें हैं जिसे मैंने मुख्यमंत्री के ध्यान में लाया है।     
पटोले ने क्या कहा था

इसके पहले लोनावाला में पटोले ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा था ‘मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री मेरे ऊपर नजर रखते हैं। पटोले ने कहा था कि हमनें स्वबल पर चुनाव लड़ने की बात कही तो उनके पैरों से जमीन खिसक रही है। सोमवार को पटोले के भाषण का यह वीडियो क्लिप सामने आया। इसमे पटोले यह कहते दिखाई दे रहे हैं कि ‘हर रोज मुख्यमंत्री व गृहमंत्री को सुबह 9 बजे आईबी की रिपोर्ट पेश कर की जाती है कि मैं कहां-कहां क्या-क्या किया। मैं यहां हूं इसकी रिपोर्ट सीएम को मिल जाएगी। मैंने कहां-कहां सभा की इसकी जानकारी मुख्यमंत्री को दी जाती है। उन्होंने कहा कि ‘ये लोग हमें आराम से रहने नहीं देंगे।  

उनके इस बयान से महा विकास आघाडी में विवाद पैदा हुआ है। इसके पहले पुणे दौरे के वक्त पटोले ने कहा था कि उपमुख्यमंत्री अजित पवार कांग्रेस कार्यकर्ताओं-नेताओं का कोई काम नहीं करते। पटोले के बयान पर शिवसेना प्रवक्ता मनीषा कायंदे ने कहा कि उन्हें कोई गलतफहमी हो गई है, जिसे दूर कर लिया जाएगा। प्रदेश राकांपा के प्रवक्ता महेश तपासे ने कहा कि सभी दलों को अपने बल पर चुनाव लड़ने का अधिकार है। सरकार में कोई मतभेद नहीं है।   

 

खबरें और भी हैं...