• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Ajit Pawar said - Do not stay in any mulling, Mumbai Police became strict about mask after infection increased

कोरोना : अजित पवार बोले - किसी मुगालते में न रहें, बढ़ा संक्रमण तो मास्क को लेकर सख्त हुई मुंबई पुलिस 

September 3rd, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। गणेशोत्सव से ठीक पहले मुंबई में एक बार फिर कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने शुरू हो गए हैं। पिछले आठ दिनों से लगातार कोरोना संक्रमण के नए मामले पिछले दिन से बढ़ रहे हैं। गुरूवार को मुंबई में कोरोना संक्रमण के 441 नए मामले सामने आएं। बुधवार को भी कोरोना के नए मरीजों की संख्या 415 थी। महानगर में 16 अगस्त को कोरोना संक्रमण के सिर्फ 190 नए मामले सामने आए थे जो दूसरी लहर के बाद सबसे कम थे। इसके बाद धीरे-धीरे संक्रमण के मामले बढ़ने शुरू हुए और अब यह लगातार 400 के पार पहुंच रहा है।10 सितंबर से राज्य खासतौर पर मुंबई का सबसे प्रसिद्ध त्योहार गणेशोत्सव शुरू हो रहा है, इसलिए प्रशासन की चिंता और बढ़ रही है। क्योंकि लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए तीसरी लहर की आशंका है और त्यौहारों के दौरान इसमें और तेजी आ सकती है। इसे देखते हुए मुंबई पुलिस ने भी कमर कस ली है और मास्क न पहनने वालों के खिलाफ सख्ती शुरू कर दी है। संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) विश्वास नांगरे पाटील ने मुंबई के सभी पुलिस स्टेशनों को निर्देश दिए हैं कि वे बिना मास्क पहने सार्वजनिक स्थानों पर घूमने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें और उनसे जुर्माना वसूल करें। पुलिस ने इस आदेश पर अमल भी शुरू कर दिया है और मास्क न पहनने वालों पर जुर्माना लगाना शुरू कर दिया है। वही अतिरिक्त मनपा आयुक्त सुरेश काकणी ने कहा कि कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ जरूर रहे हैं लेकिन यह तीसरी लहर नहीं है। कुछ और दिन नए मामले देखने के बाद इसे लेकर साफतौर पर कुछ कहा जा सकेगा। मुंबई मनपा अब तक मास्क न पहनने वालों से जुर्माने के तौर पर 65 करोड़ रुपए से ज्यादा वसूल चुकी है।  

कोरोना खत्म होने की गलतफहमी न पालें

प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में लोगों द्वारा कोरोना के नियमों का पालन न किए जाने पर उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने कड़ी नाराजगी जताई है। उन्होंने कोरोना की तीसरी लहर की स्थिति में लॉकडाउन लागू करने की चेतावनी दी है। पुणे में पत्रकारों से बातचीत में उपमुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोगों के मन में गलतफहमी हो गई है कि कोरोना खत्म हो गया है। इस कारण ग्रामीण इलाकों में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। इसलिए नागरिक ऐसी स्थिति न आने दे कि सरकार पर सबकुछ बंद करने की नौबत आ जाए। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि गणेश उत्सवों के मद्देनजर नई पाबंदियां नहीं लगाई जाएंगी। कोरोना के नियमों को लेकर सरकार की नीति उदार है पर गणेश उत्सव के पहले दिन भीड़ बढ़ी पाबंदी लागू करने के बारे में फैसला लिया जाएगा। 

दिपावली बाद स्कूल खोलने का विचार 

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में स्कूलों को शुरू करने के लिए दो अलग-अलग मत सामने आए हैं। एक मत दीपावली के बाद स्कूल खोलने की है। जबकि दूसरा मत जिन जिलों में कोरोना के मरीजों की संख्या शून्य है ऐसे जिलों में स्कूलों को शुरू करने की मांग सामने आई है। ऐसी स्थिति में अब मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे स्कूलों को शुरू करने के बारे में अंतिम फैसला करेंगे। 
 

 

खबरें और भी हैं...