comScore

दिसंबर के अंत तक फास्टैग से जुडेंगे महाराष्ट्र के सभी टोल प्लाजा

दिसंबर के अंत तक फास्टैग से जुडेंगे महाराष्ट्र के सभी टोल प्लाजा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। महाराष्ट्र के सभी टोल प्लाजा जल्द ही फास्टैग से जुड़ जायेंगे। टोल प्लाजा को फास्टैग से जोड़ने की तैयारी आगामी दिसंबर माह तक पूरी हो जोगी। महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास महामंडल और सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के अधिन भारतीय राजमार्ग प्रबंधन कंपनी (आईएचएमसीएल) के बीच यहां फास्टैग से संबंधित समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर हुआ। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय द्वारा सोमवार को एक राष्ट्र एक फास्टैग पर आयोजित सम्मेलन में एक यूनीफायड इलेक्ट्रॉनिक सौल्युशन लाने के लिए विभिन्न राज्यों ने केन्द्रीय एजेंसी आईएचएमसीएल के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर किए। इसमें महाराष्ट्र भी शामिल है। महाराष्ट्र राज्य विकास महामंडल के सह प्रबंध निदेशक विजय वाघमारे ने कहा कि सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की ओर से निर्देश दिए गए है कि आगामी दिसंबर माह के अंत तक फास्टैग से जोड़ने संबंधी सभी तैयारियों को पूरा किया जाए। उन्होने उम्मीद जताई कि संबंधित कार्य समय सीमा के भीतर पूरा कर लिया जायेगा। वाघमारे ने कहा कि केन्द्र सरकार के राज्य में स्थित टोल प्लाजा पर फास्टैग सिस्टम कार्यान्वित हुई है। महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास महामंडल और सार्वजनिक निर्माण विभाग की ओर से राज्य में कार्यान्वित कुल 73 टोल प्लाजा पर अब यह सिस्टम क्रियान्वित की जायेगी।

यह है फास्टैग सिस्टम के फायदे

फास्टैग सिस्टम से वाहन चालकों के साथ टोल प्लाजा चलाने वालों के अलावा राज्य सरकार को भी इसका लाभ होगा। फास्टैग का इस्तेमाल करने वाले वाहन चालक को प्रति व्यवहार पर 2.5 फीसदी की छूट मिलेगी। वाहनों को टोल प्लाजा पर टोल टैक्स देने के लिए रुकना पड़ता है जिससे लोगों को समय पर अपने गंतव्य में पहुंचने में भारी दिक्कत होती है। इसके अलावा टोल प्लाजा पर वाहनों से धुआं निकलता रहता है जो प्रदूषण फैलाता है। उसमें कमी लाई जा सकेगी।

कमेंट करें
VimuS