दैनिक भास्कर हिंदी: गठबंधन में दरार, भाजपा के कार्यक्रमों में नहीं जाएगी शिवसेना

September 23rd, 2019

डिजिटल डेस्क,नागपुर। गठबंधन को लेकर भाजपा व शिवसेना में तनाव की स्थिति बन रही है। गठबंधन टूटने की आशंका भी जताई जाने लगी है। ऐसे में जिले में शिवसेना के इच्छुक उम्मीदवारों का टेंशन बढ़ने लगा है। स्थिति को देखते हुए पदाधिकारियों ने निर्णय लिया है कि कुछ दिनों तक भाजपा के किसी भी कार्यक्रम में शिवसेना के कार्यकर्ताओं को शामिल न होने दिया जाए। 

प्रदेश स्तर से किसी भी तरह का संकेत नहीं मिलने से पदाधिकारियों का टेंशन और भी बढ़ता जा रहा है। शनिवार को जिला ग्रामीण के पदाधिकारियों की बैठक रविभवन में हुई। ग्रामीण के संपर्क प्रमुख सुधीर सूर्यवंशी, सांसद कृपाल तुमाने, खनिज महामंडल के अध्यक्ष आशीष जैसवाल व अन्य पदाधिकारियों ने राजनीतिक स्थिति पर चर्चा करते हुए इच्छुक उम्मीदवारों से चुनाव तैयारी करने को कहा। 

गौरतलब है कि भाजपा से गठबंधन के तहत जिले में शिवसेना को दो सीट मिलती रही हैं। रामटेक विधानसभा से आशीष जैस्वाल 2 बार विधायक रहे। काटोल व हिंगना में भी शिवसेना को भाजपा के समर्थन से चुनाव लड़ने का मौका मिला है। जिले में कुछ क्षेत्रों में शिवसेना का प्रभाव अधिक माना जाता रहा है। नगर निकाय के अलावा जिला परिषद में भी शिवसेना की सत्ता में भागीदारी रही है। 2014 के चुनाव में भाजपा व शिवसेना ने अलग अलग चुनाव लड़ा था। शिवसेना कोई भी सीट जीत नहीं पाई। लिहाजा भाजपा ने सभी सीटाें पर चुनाव लड़ने की तैयारी की है। 

प्रमुख दावेदार आ रहे सामने

रामटेक में भाजपा के विधायक डी. मलिकार्जुन रेड्डी चुनाव कार्य में जुटे हैं। काटोल में भाजपा की ओर से प्रमुख दावेदार सामने आ रहे हैं। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस व पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले इस सीट पर अधिक ध्यान दे रहे हैं। हिंगना में भाजपा के विधायक समीर मेघे का राजनीतिक प्रभाव बढ़ा है। वैसे भी भाजपा विदर्श में शिवसेना के लिए 8 से 10 के अलावा अधिक सीट छोड़ने को तैयार नहीं है। ऐसे में शिवसेना के लिए जिले में एक भी सीट मिलने की संभावना कम है। उद्धव ठाकरे या शिवसेना के अन्य किसी नेता की ओर से भी साफ संकेत नहीं मिलने से शिवसेना के इच्छुक उम्मीदवारों का टेंशन बढ़ा है। बैठक में जिला ग्रामीण के अध्यक्ष संदीप इटकेलवार, राजू हरणे, युवा सेना के जिला अधिकारी शुभम नवले, पूर्व जिप सदस्य भारती गोडबोले, नंदा लोहबरे, रचना कन्हेरे, अंजुषा बोधनकर, मनीषा इंगले, देवेंद्र गोडबोले, वर्धराज पिल्ले, दिलीप फुसे उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...