दैनिक भास्कर हिंदी: मटन का छोटा टुकड़ा परोसने से तिलमिलाए पति ने पत्नी को जिंदा जला डाला

December 18th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। खाने में मटन का छोटा टुकड़ा परोसे जाने से नाराज एक 38 वर्षीय व्यक्ति ने अपनी पत्नी को जिंदा जला दिया। वारदात नई मुंबई के जुई कमोठे गांव की है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी का नाम मारुती सरोदे है। मारुती मजदूरी करता है और नशे का आदी है। दंपति के चार बच्चे हैं। पुलिस के मुताबिक मारुती की पत्नी पल्लवी ने चार दिसंबर को खाने के लिए मटन बनाया था। शराब के नशे में धुत मारुति ने इस बात पर आपत्ति जताया कि उसे खाने में मटन का बेहद कम हिस्सा क्यों परोसा गया। इसी बात को लेकर पति-पत्नी में विवाद बढ़ा और मारुति ने पल्लवी पर मिट्टी का तेल छिड़ककर उसे आग लगा दिया। मदद के लिए बच्चे चिल्लाए तो पड़ोसी पहुंचे और उन्होंने किसी तरह आग बुझाकर महिला को नेरुल के डीवाय पाटील अस्पताल में दाखिल कराया। लेकिन महिला की तबीयत ज्यादा खराब हुई तो अगले दिन उसे मुंबई के सायन अस्पताल में भर्ती करा दिया गया। इलाज के दौरान नौ दिसंबर को महिला की मौत हो गई। इससे पहले पुलिस ने पीड़िता का बयान दर्ज किया था जिसके आधार पर आरोपी मारुति के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। कोर्ट में पेशी के बाद आरोपी को पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। 

 

समय पर न सोने से नाराज पिता ने सात साल के बच्चे की कर दी हत्या

दूसरे मामले में पनवेल इलाके में एक बोरी में मिले सात साल के बच्चे के शव की गुत्थी सुलझाते पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपियों में एक बच्चे का सौतेला पिता है। पूछताछ में आरोपी ने बताया है कि उसने बच्चे की हत्या इसलिए की क्योंकि वह बोलने के बाद भी समय पर सोया नहीं। मामले का मुख्य आरोपी संतोष तांबडे है जबकि तांबे के दोस्त रमेश पाचंगे को भी पुलिस ने शव ठिकाने लगाने में मदद करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। सोमवार सुबह जेएनपीटी रोड के बगल में स्थित कुडेवहाल गांव में बोरी में एक सात साल के बच्चे का शव मिला था। छानबीन में खुलासा हुआ था कि बच्चे का नाम सूरज उर्फ उपेंद्र साही है। बच्चा अपनी मां और सौलेते पिता के साथ पनवेल शहर में सड़क किनारे ही रहता था। पूछताछ में तांबडे ने बताया कि वह सूरज को रात में समय पर सोने को कहता था जिसे वह नजरअंदाज कर देता था। रविवार को भी जब सूरज ने उसकी बात नहीं सुनी तो उसे बहुत गुस्सा आया। उसने पहले बच्चे की पिटाई की फिर गला दबाकर उसकी की हत्या कर दी। तांबडे ने अपने दोस्त पाचंगे की मदद से बच्चे का शव बोरी में डाला और उसे देर रात सड़क किनारे फेंक आया। तांबडे हत्या की जो वजह बता रहा है उसमें कितनी सच्चाई है पुलिस इसकी छानबीन कर रही है। सीनियर इंस्पेक्टर अजय कुमार लांडगे ने बताया कि आरोपियों को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है। बुधवार को कोर्ट में पेशी के बाद उन्हें 23 दिसंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।