comScore

दोस्त की हत्या का प्रयास, पत्नी से अवैध संबंध होने का था शक

दोस्त की हत्या का प्रयास, पत्नी से अवैध संबंध होने का था शक

डिजिटल डेस्क, नागपुर। पत्नी से अवैध संबंध होने के शक में एक व्यक्ति ने अपने मित्र पर चाकू से हमला कर दिया। उसे जान से मारने का प्रयास किया। इमामवाड़ा थाने में प्रकरण दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। रामबाग निवासी जख्मी मोहित विनोद मेश्राम (19) कैटरिंग का काम करता है, जबकि उसी बस्ती में निवासरत आरोपी शुभम राजू डोंगरे (19) पानठेला चालक है। दोनों में िमत्रता है। करीब तीन साढ़े तीन वर्ष पहले शुभम की शादी हुई। वर्तमान में वह दो वर्षीय बेटे का पिता है। मित्र होने के कारण मोहित का शुभम के घर में जाना आजा था। भाभी के रिश्ते से मोहित शुभम की पत्नी से हसी मजाक भी किया करता था। जिससे गत कुछ दिनों से शुभम के मन में शक था कि उसकी पत्नी और मित्र शुभम के बीच में अवैध संबंध हैं। इस बात को लेकर मोहित और शुभम के बीच विवाद भी हुआ था। यह बात बस्ती में फैलने से आस-पड़ोस के लोगों में भी काना-फूसी होने लगी थी। इस बीच रविवार की दोपहर करीब एक से डेढ़ बजे के बीच में मोहित बस्ती की वैष्णवी अजय काले (19) के साथ कहीं जा रहा था, तभी शुभम ने मोहित को यह कहकर रोक लिया कि वह उसकी पत्नी के करीब आने की कोशिश कर रहा है। इस बात को लेकर दोनों में विवाद हुआ। तैश में आकर शुभम ने जेब ने चाकू निकाला और मोहित पर वार कर दिया। उसके पेट, गले और सीने में वार किए, उसे जान से मारने का प्रयास किया। इस बीच गंभीर हालत में मोहित को मेडिकल अस्पताल में भर्ती किया गया। हत्या के प्रयास में शुभम को गिरफ्तार कर सोमवार को अदालत में पेश किया गया है। जहां से उसे पीसीआर में भेज दिया गया, जांच जारी है।

नामी सर्राफा व्यापारी के खिलाफ प्रकरण दर्ज

‌वहीं नामी सर्राफा व्यापारी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला सोमवार को सदर थाने में दर्ज हुआ। ज्यादा ब्याज दर देने का झांसा देकर दो मित्रों को लाखों रुपए से चूना लगाया गया। इसके पहले भी सर्राफा व्यापारी के खिलाफ इसी तरह के मामले दर्ज हुए हैं, लेकिन अभी तक आरोपी व्यापारी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। आरोपी सर्राफा व्यापारी हेमंत जवेरी (58) और सागर जवेरी (34) दोनों मुंबई निवासी है। सदर छावनी परिसर में उनकी नामी त्रिभूवनदास भीमजी जव्हेरी नाम से सर्राफा की दुकान है। दर्ज शिकायत के अनुसार 5 सितंबर 2012 से 5 सितंबर 2021 के बीच में सुगत नगर निवासी उत्तंगराव भोजापाई (60) और उसके मित्र प्रशांत कुमार टायटस ने त्रिभूवनदास भीमजी जव्हेरी प्रतिष्ठान में प्रति दस-दस लाख रुपए का निवेश किया था। इसके लिए उन्हें 1.5 प्रतिशत ब्याज दर देने का झांसा दिया गया था। शुरुआती दौर में उन्हें ब्याज की रकम बराबर िमलती रही, लेकिन बाद में ब्याज की रकम िमलना भगभग बंद हो गया था। इसके लिए कई बार दोनों मित्रों ने प्रतिष्ठान के चक्कर मारे, मगर समाधान कारक जवाब नहीं दिया गया। इस कारण उन्होंने अपनी रकम वापस देने की मांग की। रकम वापस करने के लिए भी आरोपी व्यापारियों का टालमटोल रवैया रहा। जिससे मामला थाने पहुंचा। उल्लेखनीय है कि है कि इसके पहले भी आरोपी व्यापारियों के खिलाफ इसी तरह की धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ था, लेकिन अभी तक उनकी गिरफ्तारी नहीं हुई है। कार्रवाई को लेकर पुलिस संदेह के घेरे में है।
 

कमेंट करें
6LcWy