बागवान: इस परिवार की चाह - युवा देशसेवा के लिए सेना में जाएं

November 7th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। आज के समय हर व्यक्ति की दिनचर्या बहुत व्यस्त है। खान-पान का भी टाइम सहीं नहीं रह गया है, जिससे सेहत पर बुरा असर पड़ रहा है। कम उम्र में युवा वर्ग बीमारियों का शिकार हो रहा है। स्वस्थ और सुखी जीवन के लिए दिनचर्या को नियमित और भाेजन को संतुलित करना जरूरी है। इससे न केवल तनाव दूर होगा, बल्कि स्वस्थ जिंदगी जी सकेंगे। यह कहना है गोपल नगर निवासी 67 वर्षीय  विजय कुमार शर्मा का। 

आपकी जिंदगी का सबसे महत्वपूर्ण वह कौन सा पल था, जिसमें आपने सफलता पाई और वह किस तरह आने वाली पीढ़ी का मार्गदर्शन कर सकता है।

मैं अपने जीवन का हर पल महत्वपूर्ण मानता हूं। मैंने हमेशा सच्चाई और ईमानदारी से जीवन जिया और सफलता मिली। बच्चों को भी यही शिक्षा दी। जीवन में हमेशा सही रास्ते पर चलना चाहिए। सच्चाई के रास्ते में भले ही कांटे होेते हैं, लेकिन सच्चाई पर चलकर किया गया कार्य ही सफलता की ओर ले जाता है। गलत मार्ग पर चलकर जल्दी सफलता तो मिलती है, लेकिन वो क्षणिक मात्र होती है। आपने जो अपनी विरासत संजोई है और जिंदगी में जो

अनुभव प्राप्त किए हैं, वे किस तरह भविष्य को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं?

मेरे संस्कार ही मेरी विरासत हैं। भविष्य को बेहतर बनाने के लिए मेहनत करना जरूरी है। मेहनत से अपने मुकाम को पाया जा सकता है। जिंदगी में अच्छे-बुरे अनुभव लिए हैं। अनुभवों से बहुत सीख मिली है। ये भी देखा है कि जब अच्छा वक्त होता है, तो सभी साथ होते हैं। जैसे ही जीवन में उतार-चढ़ाव आया, तो अपने भी साथ छोड़ देते हैं। 

अपने शहर, समाज और देश के लिए अब क्या करना चाहते हैं और यह भी बताइए कि आज की युवा पीढ़ी को क्या करने की जरूरत है?

युवा पीढ़ी को देश सेवा की ओर जाना चाहिए। आज युवा डॉक्टर, इंजीनियर, वकील बनना चाहता है, लेकिन सैनिक बनकर देशसेवा के लिए बहुत कम लोग जाते हैं। हमारे सैनिक 24 बाय 7 मातृभूमि की सेवा में डंटे रहते हैं।

खबरें और भी हैं...