comScore

आरे में बन रहे मेट्रो कारशेड के निर्माण पर रोक, फडणवीस के फैसले पर जताया था एतराज  

आरे में बन रहे मेट्रो कारशेड के निर्माण पर रोक, फडणवीस के फैसले पर जताया था एतराज  

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पद संभालते ही फडणवीस सरकार के एक फैसले पर रोक लगा दी है। शुक्रवार को मंत्रालय पहुंच कर कार्यभार संभालने के बाद मंत्रिमंडल की बैठक में उद्धव ने आरे में बन रहे मेट्रो रेल कारशेड के निर्माण पर रोक लगाने का फैसला लिया। मंत्रालय स्थित पत्रकार कक्ष में पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने बताया कि आरे मेट्रो कारशेड मामले की पूरी समीक्षा की जाएगी। जब तक कोई विकल्प नहीं निकलता निर्माण कार्य पर रोक लगाने का फैसला लिया गया है। गौरतलब है कि मेट्रो कारशेड के लिए 2141 पेड काटने पड़े थे। इसका पर्यावरणवादियों ने कडा विरोध किया था। उस वक्त भाजपा नेतृत्व वाली सरकार में शामिल शिवसेना ने इसको लेकर नाराजगी जताई थी। मुख्यमंत्री ठाकरे ने स्पष्ट किया कि मेट्रो रेल के काम को नहीं रोका गया है। उन्होंने कहा कि आरे में अब एक भी पेड का कत्ल नहीं होने दिया जाएगा। 

जनता के पैसों की बर्बादी नहीं

मंत्रालय की छठी मंजिल पर मुख्यमंत्री कार्यालय में कार्यभार संभालने के बाद मुख्यमंत्री ठाकरे ने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि इस बात का खास ध्यान रखा जाए कि जनता के पैसों की बर्बादी न होने पाए। योजनाओं पर खर्च होने वाली रकम जनता की है। योजना का प्रचार-प्रसार में प्रधानमंत्री या किसी की भी फोटो हो पर पैसों का बर्बादी नहीं होनी चाहिए। यह जनता का पैसा है।     

मुंबई में जन्म पहला मुख्यमंत्री

उद्धव ने कहा कि मैं शायद मुंबई में जन्मा पहला मुख्यमंत्री हूं। इस लिए मुंबई के लिए कुछ अच्छा करना है। इसके लिए योजनाओं पर सोच-विचार मैंने शुरु कर दिया।  मुंबई के अलावा महाराष्ट्र के अन्य शहरों का भी विकास होगा। उन्होंनै कहा कि किसानों से मैंने वादा किया है, उसे पूरा करूगा। जल्द ही इस बारे में फैसला लूंगा। 

यह भगवा किसी लांड्री में नहीं धुलेगा

शपथ ग्रहण की तरह शनिवार को मंत्रालय पहुंचे उद्धव ने भगवा कुर्ता पहना हुआ था। इस बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह भगवा रंग किसी भी लांड्री में नहीं धुलेगा। यह पूछे जाने पर कि मुख्यमंत्री बनने के बाद सरकारी आवास वर्षा जाएंगे या मातोश्री पर ही रहेंगे? उद्धव ने कहा कि मातोश्री का क्या अलग स्थान है इसे बताने की जरुरत नहीं है। पर मैंने जो जिम्मेदारी स्वीकार की है, उसके लिए जो भी जरुरी होगा मैं करुंगा।

एसा लगा ज्ञापन लेकर मंत्रालय आया हूं

मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार मंत्रालय पहुंचे उद्धव ने कहा कि मैं अपने अब तक के जीवन में दो या तीन बार ही मंत्रालय आया हूं। आज जब मंत्रालय आया तो क्षणभर के लिए लगा कि कोई निवेदन पत्र लेकर मंत्रालय आया हूं। अभी तक मैं कभी विधानसभा सदन में कभी नहीं गया। इस लिए इनसब की आदत पड़ने में थोड़ा समय लगेगा। 
 

कमेंट करें
nlpdT