comScore

महाराष्ट्र : सांगली, मिरज, कुपवाड़ निकाय चुनाव में पहली बार BJP ने लहराया परचम

August 04th, 2018 15:43 IST

डिजिटल डेस्क, पुणे। भारतीय जनता पार्टी ने सांगली मिरज कुपवाड़ महानगरपालिका में इतिहास रचते हुए 78 में 41 सीटें जीत कर स्पष्ट बहुमत हासिल किया है। जिससे कांग्रेस-राकांपा गठबंधन को करारा झटका लगा और सांगली में कमल खिला। सांगली, मिरज, कुपवाड़ मनपा के लिए बुधवार को 62.17 फीसदी मतदान हुआ था। चुनावी मैदान में कांग्रेस राकांपा गठबंधन के 74, भाजपा के 78, शिवसेना के 51, निर्दलीय विकास महाआघाड़ी के 35, स्वाभिमानी विकास आघाड़ी के 20, सुधार समिति के 21 और एमआईएम के 8 ऐसे कुल 78 सीटों के लिए 451 प्रत्याशी थे।

चुनाव भाजपा और शिवसेना ने खुद के बलबूते लड़ा था। भाजपा को मात देने के लिए कांग्रेस-राकांपा ने गठबंधन कर किया था। भाजपा, कांग्रेस राकांपा के लिए चुनाव आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनाव के मद्देनजर महत्वपूर्ण था। भाजपा और कांग्रेस राकांपा गठबंधन में कांटे की टक्कर हुई थी। मराठा आरक्षण की मांग को लेकर राज्य में गर्माए माहौल के कारण मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस प्रचार के लिए नहीं आ सके थे। कांग्रेस-राकांपा ने अपने प्रत्याशियों के प्रचार के लिए पूरी ताकत लगाई थी। इसलिए राज्य का ध्यान सांगली मिरज कुपवाड़ मनपा चुनाव नतीजों की ओर लगा हुआ था।


 

शुक्रवार सुबह दस बजे से मिरज रोड स्थित सेंटर वेयर हाऊस में मतगणना शुरू हुई। मतगणना शुरू होते ही कांग्रेस-राकांपा आघाड़ी आगे थी, लेकिन मतगणना के दूसरे चरण में भाजपा पूरी ताकत के साथ आगे आई। भाजपा ने अपने प्रभागों में जीत हासिल करने के साथ कांग्रेस-राकांपा आघाड़ी के प्रभागों में सेध लगा दी। अंतिम चरण में भाजपा को 41, कांग्रेस 20, राकांपा 15, स्वाभीमानी आघाड़ी 1 और निर्दलीय  को 1 एक सीट मिली। 

इन दिग्गजाें की हार
चुनाव में कई दिग्गजों की हार हुई जिनमें पूर्व महापौर किशोर जामदार, पूर्व महापौर विवेक कांबले, कुपवाड़ के  राकांपा के नेता धनपाल खोत शामिल हैं। सबसे चौंकानेवाले नतीजे प्रभाग नंबर 15 में आए। भाजपा सांसद संजय पाटील के ममेरे भाई रणजीत सावर्डेकर पराजीत हुए। वहीं उनके दूसरे ममेरे भाई विक्रम सावर्डेकर की पत्नी सोनल सावर्डेकर को भी पराजय मिली। दोनों को लिए सांसद पाटील 15 दिनों से प्रभाग में ही थे। उन्होंने अपनी पूरी ताकत दांव पर लगाई थी। लेकिन युवक कांग्रेस के शहराध्यक्ष मंगेश चव्हाण, फारुक पठाण ने उन्हें झटका देते हुए इस प्रभाग में कांग्रेस प्रत्याशी जीता दिए। 

पिछले चुनाव की स्थिति
वर्ष 2013 को हुए सांगली मिरज कुपवाड़ मनपा में कांग्रेस ने सत्ता हासिल की थी। उस समय कांग्रेस ने 41 सीटें जीतकर स्पष्ट बहुमत हासिल किया था। वहीं राकांपा को 19, भाजपा प्रणित स्वाभिमानी आघाड़ी को 8, महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना को 1 और निर्दलीय को 9 सीटें मिली थी। इस चुनाव में भाजपा ने भी 41 सीटें जीतकर बहुमत हासिल कर लिया।

कमेंट करें
Tp5l0