comScore

विरोध प्रदर्शन के बीच 3 करोड़ परिवारों को CAA का मतलब समझाएगी भाजपा

विरोध प्रदर्शन के बीच 3 करोड़ परिवारों को CAA का मतलब समझाएगी भाजपा

हाईलाइट

  • CAA को लेकर भाजपा 3 करोड़ परिवारों से करेगी संपर्क
  • अगले 10 दिनों में 250 से भी ज्यादा जगहों में प्रेस कॉन्फेंस
  • देश के कई राज्यों में धारा 144 लागू

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। संसद द्वारा 11 दिसंबर को नागरिकता संशोधन बिल (CAB) पारित किए जाने के बाद से देशभर में कोहराम मचा हुआ है। नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के खिलाफ देश के विभिन्न हिस्सों में हो रहे हिंसक प्रदर्शनों में अब तक कई लोगों ने अपनी जान गंवा दी हैं। इस बीच भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने देश के 3 करोड़ परिवारों को CAA के बारे में जागरूक करने का फैसला लिया है। इसके लिए भाजपा एक विशेष अभियान चलाने जा रही है।

भाजपा नेता भूपेंद्र यादव ने शनिवार को कहा कि BJP ने फैसला किया है कि अगले 10 दिन में हम CAA के लिए 3 करोड़ परिवारों से संपर्क करने के लिए एक विशेष अभियान चलाएंगे। इसके लिए भाजपा CAA के समर्थन में 250 से भी ज्यादा जगहों पर प्रेस कॉन्फेंस भी करेगी।

बता दें कि CAA के खिलाफ देशभर में हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं। पुलिसकर्मियों पर पथराव किया जा रहा है। इस हिंसा को रोकने और कम करने के लिए कई इलाकों में इंटरनेट और टेलीफोनिक सेवाएं बंद की जा रही हैं, जिससे इस एक्ट को लेकर अफवाहें न फैलाई जा सकें और न ही दुष्प्रचार किया जा सके। इसके अलावा मध्यप्रदेश, असम, उत्तर प्रदेश जैसे कई राज्यों में धारा 144 लागू की गई है।

क्या है CAA?

CAA वह अधिनियम है, जो पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश जैसे इस्लामिक देशों से भगाए गए गैर मुसलमानों को पनाह देगा। अधिनियम के मुताबिक 31 दिसंबर 2014 को या उससे पहले जिन भी हिंदुओं, सिखों, जैनों, पारसियों, बौद्धों और ईसाईयों ने पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से धार्मिक उत्पीड़न के कारण भारत की पनाह ली हैं, उन्हें भारत की नागरिकता प्रदान करने की कोशिश की जाएगी।

कमेंट करें
WYo7L