comScore

अमरन नदी में बालक डूबा ,बरहा में बह गया युवक - दोनों की तलाश जारी 

September 30th, 2019 15:08 IST
अमरन नदी में बालक डूबा ,बरहा में बह गया युवक - दोनों की तलाश जारी 

डिजिटल डेस्क सतना। जिले के नागौद थाना अंतर्गत अमरन नदी में जहां 12 वर्षीय बालक डूब गया, वहीं उचेहरा थाना इलाके में बरहा नदी में नहाते वक्त 24 वर्षीय एक युवक बह गया। दोनों का फिलहाल पता नहीं चल पाया है। दोनों की तलाश के लिए पुलिस ने स्थानीय गोताखोरों के साथ होमगार्डस की भी मदद ली है। बताया गया है कि  दोनों का अब तक पता नहीं चल पाया है। पुलिस की टीम स्थानीय गोताखोरो और होमगार्ड दस्ते के साथ तलाश में लगी हुई है पर नदियों का जल स्तर काफी ज्यादा होने से बचाव कार्य में बाधा आ रही है।  तेज था बहाव
नागौद पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक गोपाल टोला निवासी जुनैद मंसूरी पुत्र कल्लू मंसूरी 12 वर्ष अपने 4 दोस्तों के साथ रविवार सुबह करीब साढ़े 8 बजे अमरन नदी में नहाने गया था, सभी लड़के तेली घाट पर पहुंचकर नहाने लगे। इसी दौरान जुनैद तेज बहाव में फंसकर बह गया,यह दृश्य देखकर साथियों ने  बचाने का प्रयास किया लेकिन नाकाम रहे। तब बच्चों ने चीख-पुकार मचाकर आस-पास के लोगों को एकत्र कर लिया तो किसी ने उसके घर जाकर परिजन को अवगत कराया। इसी बीच थाने में भी सूचित कर दिया गया,लिहाजा पुलिस कर्मी मौके पर पहुंच गए। पहले तो स्थानीय गोताखोरों की मदद ली गई फिर जिला मुख्यालय से होमगार्ड के प्रशिक्षित जवानों को जीवन रक्षक उपकरणों के साथ बुला लिया गया। शाम तक नदी के बड़े इलाके में बचाव अभियान चलाया गया पर जल स्तर काफी ज्यादा होने से बालक का पता नहीं चल सका। ऐसे में अब पानी कम होने का इंतजार किया जा रहा है। अंधेरा हो जाने पर तलाश रोक दी गई,सोमवार सुबह फिर से गोताखोरो को नदी में उतारा जाएगा। उधर बच्चे के न मिलने से माता-पिता और रिश्तेदारों का रो-रोकर बुरा हाल है।  
महंगी पड़ी छलांग :-----
उचेहरा पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक वार्ड 4 निवासी कुलदीप उर्फ शुभम चौधरी पुत्र पप्पू चौधरी 24 वर्र्ष अपने घर से रविवार सुबह करीब साढ़े 9 बजे  बरहा नदी में नहाने गया था। वह नौगजा बाबा के पास बने स्टाप डैम के किनारे पर कपड़े रखकर नदी में उतर गया और कुछ देर बाद बाहर आकर शरीर पर साबुन लगाकर पुन: पानी में कूद गया। लेकिन इस बार ऊपर नहीं आया,यह देखकर आस-पास खड़े स्थानीय युवकों ने जान की परवाह किए बिना नदी में छलांग लगा दी और तलाश करने लगे पर उफनती नदी के सामने उनकी कोशिश बेकार चली गई। अंतत: डायल 100 पर सूचना दी गई तो पुलिस टीम घटना स्थल पर आ गई साथ ही मैहर में तैनात होमगार्ड को गोताखोरों को बुला लिया गया। इसी बीच युवक के परिजन व रिश्तेदार भी मौके पर एकत्र हो चुके थे। 
9 घंटे बाद रोका गया अभियान 
मानवीय प्रयास नाकाम होने पर बांस व कांटे डालकर तलाश की गई तो मैहर से मोटर वोट मंगवाकर नदी में गोताखोरों को उतारा गया। इसके बाद भी नदी की अथाह जल राशि में शुभम का पता लगाना मुंमकिन नहीं हो पाया लगभग 9 घंटे तक चले बचाव अभियान को अंधेरा हो जाने पर रोक दिया गया। युवक के नहीं मिलने से उसके घरवालों की हालत खराब हो गई है। जिन्हें रिश्तेदार बड़ी मुश्किल से संभाल पा रहे है। पुलिस की एक टीम गोताखोरो के साथ अभी भी मौके पर बड़ी-बड़ी टार्च और हैलोजन लाइन के साथ जमी हुई है। कुछ स्थानीय लोग भी नदी किनारे बने हुए थे।  
 

कमेंट करें
N6Tmv