दैनिक भास्कर हिंदी: कई दिग्गजों के टूटे सपने, पूर्व सीएम चव्हाण नहीं बचा सके गढ़, केंद्रीय मंत्री गीते, अहिरे, शिंदे, माणिकराव, पार्थ पवार हारे   

May 23rd, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। लोकसभा चुनाव में भाजपा के पक्ष में चले अंडर करंट की चपेट में आने से कांग्रेस-राकांपा के कई दिग्गजों को हार का सामना करना पड़ा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चव्हाण अपनी परंपरागत सीट नांदेड से चुनाव हार गए। पूर्व मुख्यमंत्री चव्हाण 2014 की मोदी लहर में भी अपनी सीट बचाने में सफल रहे थे। लेकिन इस बार उन्हे भाजपा के प्रताप चिखलीकर के हाथों पराजित होना पड़ा है। राकांपा के वरिष्ठ नेता अजित पवार के बेटे पार्थ पवार मावल से चुनाव हार गए। इससे शरद पवार की तीसरी पीढ़ी का राजनीतिक प्रवेश अधर में अटक गया। मावल लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र में शिवसेना के श्रीरंग बारणे ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के पार्थ पवार को पराजित किया। इस बार पवार परिवार को पिछले पचास सालों में पहली बार राजनीतिक पराजय का सामना करना पड़ा है। पूर्व उपमुख्यमंत्री और राकांपा के नेता अजित पवार के बेटे पार्थ पवार की हार पार्टी के लिए बड़ा झटका है। पार्थ को चुनाव में उतारने के लिए पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार खुद माढ़ा सीट से पीछे हटे थे। मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवडा को दक्षिण मुंबई सीट से हार का सामना करना पड़ा है। उत्तर मुंबई से बतौर कांग्रेस उम्मीदवार मैदान में उतरी फिल्म अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर को भी हार मिली है। पूर्व मुख्यमंत्री सुशील कुमार शिंदे सोलापुर से और प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष माणिक राव ठाकरे यवतमाल सीट से चुनाव हार गए हैं। वंचित बहुजन आघाडी के संयोजक प्रकाश आंबेडकर सोलापुर व अकोला सीट से मैदान में थे। पर वे दोनों जगहों से चुनाव हार गए।