comScore

नागपुर अधिवेशन के पहले हो सकता है मंत्रिमंडल विस्तार, सस्पेंस कायम

नागपुर अधिवेशन के पहले हो सकता है मंत्रिमंडल विस्तार, सस्पेंस कायम

डिजिटल डेस्क, मुंबई। राज्य की उद्धव ठाकरे सरकार के विश्वास मत हासिल करने के बाद अब सबकी नजरे मंत्रिमंडल विस्तार पर लगी हैं। पर तीन दलों की सरकार में मंत्रीपद को लेकर सहमति नहीं बन पा रही है। शनिवार को राकांपा के वरिष्ठ नेता अजित पवार ने कहा कि विधानमंडल के नागपुर अधिवेशन के पहले मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है। जबकि  राकांपा क प्रदेश अध्यक्ष व नई सरकार के मंत्री जयंत पाटिल ने कहा कि उनकी पार्टी ने अभी यह तय नहीं किया है कि महाराष्ट्र में उपमुख्यमंत्री किसे बनाया जाए।

कैबिनेट मंत्री पाटिल ने विधानभवन परिसर में पत्रकारों से कहा कि उपमुख्यमंत्री राकांपा से होगा। लेकिन पवार साहेब तय करेंगे कि किसे उपमुख्यमंत्री बनाया जाए। अभी इसपर फैसला लिया जाना बाकी है। उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस सरकार में सत्ता के बंटवारे के फार्मूले के अनुसार उपमुख्यमंत्री का पद राकांपा को मिलेगा, जबकि विधानसभा अध्यक्ष का पद कांग्रेस को दिया गया है। कांग्रेस सूत्रों ने कहा कि पार्टी विधानसभा अध्यक्ष का पद मिलने पर संतुष्ट है क्योंकि ठाकरे सरकार में फिलहाल एक ही उपमुख्यमंत्री होगा। राकांपा के वरिष्ठ नेता अजित पवार ने पाटिल का समर्थन किया।

अजित से जब यह पूछा गया कि क्या वह उपमुख्यमंत्री बनना चाहेंगे तो उन्होंने कहा, "पार्टी मुझे जो भी जिम्मेदारी देगी, मैं उसे स्वीकार करूंगा। अजित ने कहा कि इस बारे में राकांपा अध्यक्ष शरद पवार फैसला लेंगे। इस बीच पार्टी सूत्रों ने कहा कि अजित पवार को उपमुख्यमंत्री बनाया जा सकता है। राकांपा के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि फिलहाल राज्य मंत्रिमंडल में केवल 6 मंत्री हैं। ऐसे में नागपुर अधिवेशन के दौरान इन 6 मंत्रियों के भरोसे विधानमंडल के दोनों सदनों का कामकाज चलाने में परेशानी होगी।   

कमेंट करें
h9pbV