रहें सतर्क: गडचिरोली में गोदावरी नदी के किनारे रहने वाले नागरिकों को दी सतर्क रहने की चेतावनी 

July 17th, 2022

डिजिटल डेस्क, मुंबई। गडचिरोली में गोदावरी नदी के किनारे रहने वाले नागरिकों को सतर्क रहने की चेतावनी दी गई है। रविवार को मंत्रालय के राज्य आपदा नियंत्रण कक्ष की ओर से यह जानकारी दी गई। इसके अनुसार लगातार हो रही बारिश के चलते गोदावरी और प्राणहिता जलग्रहण क्षेत्र में हुई अतिवृष्टि से गोदावरी नदी से ज्यादा पानी छोड़े जाने की संभावना है। गडचिरोली में पिछले 24 घंटे में औसतन 20 मिमी बारिश हुई है। गडचिरोली की वैनगंगा, प्राणहिता और वर्धा नदी खतरे के निशान के आसपास प्रभावित हो रही है। जबकि गोदावरी और इंद्रावती नदी खतरे के निशान से ऊपर बहने लगी हैं। नदियों के लबालब भरने से कई मार्ग प्रभावित हो गए हैं। इसके मद्देनजर नदी किनारे के नागरिकों को सतर्क रहने की सूचना दी गई है। गडचिरोली में फिलहाल 10 हजार 606 व्यक्तियों को सुरक्षित स्थल पर ले जाया गया है। इसके लिए 35 मदद केंद्र खोले गए हैं। मेडीगड्डा बैरेज के सभी 85 गेट खोल दिए गए हैं। दूसरी ओर कोंकण के रत्नागिरी में खेड और जगबुडी नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है।  

अतिवृष्टि से अब तक 104 नागरिकों की मौत 

राज्य में आपदा प्रभावितों को रहने के लिए 73 अस्थायी आश्रय केंद्र स्थापित किए गए हैं। अभी तक 11 हजार 836 नागरिकों को सुरक्षित स्थल पर ले जाया गया है। 1 जून से 16 जुलाई के बीच अतिवृष्टि के कारण 104 नागरिकों की मौत हो गई है। जबकि 189 जानवरों की भी मृत्यु हुई है।