दैनिक भास्कर हिंदी: सीएम का दावा 15 निर्दलीय बीजेपी के साथ, मुनगंटीवार बोले-विकल्प तलाशना यानी विनाश काले विपरीत बुद्धि

October 29th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। विदर्भ कि गोंदिया सीट से निर्दलीय विधायक विनोद अग्रवाल ने भाजपा को समर्थन दिया है। जबकि रायगड की उरण सीट से विधायक महेश बालदी ने भी भाजपा का साथ देने का फैसला किया है। मंगलवार को दोनों निर्दलीय विधायकों ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर समर्थन पत्र सौपा। मुख्यमंत्री ने कहा कि निर्दलीय और छोटे दलों को मिलाकर भाजपा को लगभग 15 विधायकों का समर्थन मिल जाएगा। विनोद अग्रवाल गोंदिया सीट से भाजपा के उम्मीदवार गोपालदास अग्रवाल को हराया है। ऐन विधानसभा चुनाव के मौके पर कांग्रेस से भाजपा में आने वाले गोपालदास को टिकट दिए जाने से नाराज विनोद ने बगावत कर दी थी। विधायक बालदी ने मुख्यमंत्री पद के लिए फडणवीस को समर्थन देने के संबंध में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को पत्र भी लिखा है। विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 105 और शिवसेना ने 56 सीटों पर जीत हासिल की थी। लेकिन निर्दलीय और छोटे दलों के समर्थन से शिवसेना के समर्थक विधायकों का आंकड़ा 61 हो गया है।  

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच जारी खींचतान जल्द खत्म होती नहीं दिख रही है। मुख्यमंत्री पद पर नजरें जमाई शिवसेना जहां सत्ता में 50 प्रतिशत भागीदारी लेने को आतुर है तो वहीं भाजपा उसकी यह शर्त्त मानने को तैयार नहीं है। सीएम साफ कह चुके हैं कि भाजपा नेतृत्व ने तय किया है कि महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री पद भाजपा के पास ही रहेगा। 

विपक्ष की शह पर है शाह की नजर

अमित शाह राकांपा और कांग्रेस की ओर से शिवसेना को मिल रही ‘शह’ पर भी नजरें जमाए हुए है। पार्टी का मानना है कि विपक्ष की चाल में आकर शिवसेना मामले को कुछ दिन और लटका सकती है। ऐसे में सरकार गठन में देरी होने के आसार हैं। बता दें कि महाराष्ट्र चुनाव में भाजपा को सबसे ज्यादा 105 सीटें मिली है तो शिवसेना के खाते में 56 सीटें आई है। राकांपा और कांग्रेस को क्रमश: 54 व 44 सीटें मिली हैं।

 

मुनगंटीवार बोले विकल्प तलाशना यानी विनाश काले विपरीत बुद्धि

उधर नागपुर में राज्य के वित्तमंत्री व भाजपा नेता सुधीर मुनगंटीवार मंगलवार को केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी के रामनगर स्थित भक्ति आवास पर पहुंचे। उनके केंद्रीय मंत्री गडकरी के आवास पर पहुंचने से राजनीतिक उठापटक को और बल मिला। आवास से बाहर निकलने पर श्री मुनगंटीवार ने शिवसेना पर करारा हमला बोला। उन्होंने कहा कि शिवसेना द्वारा विकल्प तलाशना यानी विनाशकाले विपरित बुद्धि है। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव महायुति ने एक साथ लड़ा है। मतदाताओं ने दिया जनादेश यह नया विकल्प ढूंढने के लिए नहीं है। शिवसेना के लिए जैसे विकल्प है, वैसे भाजपा के सामने भी है। लेकिन ऐसे विकल्प तलाशना यानी विनाशकाले विपरित बुद्धि है। वित्तमंत्री ने भरोसा जताया कि युति में चल रहा तनाव जल्द खत्म होगा। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे एक साथ बैठकर निर्णय लेंगे। राष्ट्रवादी कांग्रेस के प्रवक्ता नवाब मलिक द्वारा शिवसेना को मांगने पर समर्थन देने के संकेत देने पर श्री मुनगंटीवार ने कहा कि वे संकेत देंगे ही। लेकिन विचार शिवेसना को करना है। उन्हें इस तरीके से विकल्प तलाशना था तो युति न करके स्वतंत्र चुनाव लड़ना था। हालांकि गडकरी आवास पर आने का कारण पूछने पर उन्होंने स्पष्ट किया कि वे दिवाली की शुभेच्छा देने के लिए यहां आए है। इसका राजनीति से कोई संबंध नहीं है। 

 

भाजपा विधायक दल की बैठक के लिए आएंगे तोमर 

वहीं मुंबई में भाजपा विधायक दल की बैठक के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेता व केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अविनाश राय खन्ना उपस्थित रहेंगे। बुधवार को महाराष्ट्र विधानमंडल में भाजपा विधायक दल की बैठक होगी। प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटील ने यह जानकारी दी। 
 

खबरें और भी हैं...