दैनिक भास्कर हिंदी: सीएम योगी बोले- मैं बॉलीवुड छीनने नहीं आया, मंत्री गुलाबराव बोले - यूपी जाकर कलाकार डाकू बनेंगे क्या

December 2nd, 2020

डिजिटल डेस्क, मुंबई। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि मैं बॉलीवुड छिनने मुंबई नहीं आया हूं। कोई किसी चीज को लेकर नहीं जा सकता। यहां खुली प्रतिस्पर्धा है। जो ज्यादा सुरक्षा व सुविधाएं देगा, वहां लोग जाएंगे। योगी ने कहा कि मैं बॉलीवुड को यूपी ले जाने की बजाय वहा विश्वस्तरिय फिल्मसिटी बनाना चाहता हूं। इसके लिए फिल्म उद्योग से जुड़े लोगों से विचार विमर्श कर रहा हूं। बुधवार को महानगर के पंचसितारा होटल में उद्योगपतियों और फिल्म जगत के लोगों से चर्चा के बाद योगी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि नोयडा में यमुना के किनारे 1 हजार एकड़ में नई फिल्मसिटी बनाई जाएगी। इसमें फिल्म जगत से जुड़े लोगों ने रुचि दिखाई है। इसके पहले शिवसेना प्रवक्ता संजय राऊत ने कहा था कि 100 साल पुरानी फिल्म इंडस्ट्री को मुंबई से कोई नहीं ले जा सकता। योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में फिल्म उद्योग के लिए व्यापक संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि 2018 में इनवेस्टर समिट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूपी में डिफेंस कॉरिडोर बनाने का एलान किया था। इस क्षेत्र में काफी अच्छी संभावनाएं हैं।

मुख्यमंत्री ने बताया कि वर्ष 2018 में एक जिला, एक उद्योग कार्यक्रम शुरु किया गया था। इसके लिए तहत सरकार उद्योगों के लिए सुविधाएं उपलब्ध करा रही है। उत्तर प्रदेश में 4.28 लाख करोड़ का निवेश हुआ है। केवल पांच महीनों में 60 हजार करोड़ से अधिक लागत वाली परियोजनाओं को मंजूरी दी गई है। जिओ, अडानी समुह, टाटा कंसल्टेंसी सर्विस, इफोसिस व पेप्सिका जैसी कंपनियों ने यूपी में निवेश किया है। योगी ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश सरकार कोरोना नियंत्रण में पूरी तरह सफल रही। कोलोना काल में 1 करोड़ 25 लाख लोगों को रोजगार दिया गया है। इस दौरान उत्तर प्रदेश के मंत्री सतीश महाना, सिद्धार्थनाथ सिंह अलोक टंडन, उत्तर प्रदेश सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव नवनीत सहगल आदि मौजूद थे। लखनऊ नगर निगम उत्तर भारत का पहला नगर निगम बन गया है, जिसने बॉन्ड जारी किया है। बुधवार की सुबह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीएसई में बेल बजाकर इसे सूचीबद्ध किया। उन्होंने कहा कि लखनऊ मनपा उत्तर भारत की पहली नगर निकाय है जिसे शेयर बाजार में लिस्ट किया गया है।   

तीन साल में बहुत बदला है उत्तर प्रदेश

इसके पहले फिल्म व उद्योग जगत के लोगों को संबोधित करते हुए योगी ने कहा कि तीन साल में उत्तरप्रदेश बहुत बदला है। तरक्की ने गति पकड़ ली है। इन्वेस्टर्स समिट और उसके बाद हुए दो  ग्राउंड सेरमोनी के जरिए 3 लाख करोड़ रुपए से अधिक का निवेश आना इसका सबूत है। तरक्की की ये गति वैश्विक महामारी कोरोना के दौरान भी नही रुकी। इस दौरान करीब 45 हजार करोड़ रुपए का विदेशी निवेश आया। यह प्रदेश की सरकार, उसकी नीतियों और कानून व्यवस्था पर लोगों के भरोसे का सबूत है। 

अपनी जड़ों से लगाव स्वभाविक

इस दौरान मुख्यमंत्री ने प्रवासी उद्यमियों से मुखातिब होते हुए कहा कि अपनी जड़ों से लगाव स्वाभाविक है। अब समय आ गया है, एक बार जरूर अपनी माटी से अपने रिश्ते को मजबूत करें। कार्यक्रम का संचालन पंकज जैसवाल ने किया। प्रवासी उद्यमियों में दिनेश चंद्र उपाध्याय, अशोक तिवारी, अरविंद राही, सिद्धार्थ श्रीवास्तव, एसवी गिरी, अनिल तिवारी, सैफ कुरेशी, इल्यास गदरीवाला, आशुतोष श्रीवास्तव, राकेश सिंह, अनीस, दिनकर पाठक, योगेश साहू , राम सिंह आदि थे।

यूपी जाकर कलाकारों को डाकू बनना है क्याः गुलाबराव पाटील

प्रदेश के जलापूर्ति व स्वच्छता मंत्री गुलाबराव पाटील ने कहा कि मुंबई की फिल्मसिटी को किसी दूसरी जगह पर नहीं ले जाया जा सकता है। बॉलीवुड के कलाकार उत्तर प्रदेश में क्यों जाएंगे। कलाकारों को उत्तर प्रदेश में जाकर डाकू बनना है क्या? पाटील ने कहा कि मुंबई में लोग सुरक्षित हैं। उत्तर प्रदेश में जाकर लोग सुरक्षित रहेंगे क्या? उत्तर प्रदेश में क्या परिस्थिति है? बॉलीवुड वहां पर क्यों जाएगा। पाटील ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बैंकों में हुई लूट के आरोपियों का नाम बॉलीवुड वाले देख लेंगे तो वहां पर कोई नहीं जाएगा। 


 
  

खबरें और भी हैं...