comScore

पन्ना: वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह 2020 हेतु प्रतियोगिताओं का आयोजन प्रतियोगिता का प्रथम चरण 10 से 20 सितंबर तक

September 12th, 2020 15:56 IST
पन्ना: वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह 2020 हेतु प्रतियोगिताओं का आयोजन प्रतियोगिता का प्रथम चरण 10 से 20 सितंबर तक

डिजिटल डेस्क, पन्ना। पन्ना क्षेत्र संचालक पन्ना टाइगर रिजर्व ने बताया है कि इस वर्ष वन्यप्राणी संरक्षण सप्ताह 2020 का आयोजन विगत वर्षों की भांति न होकर राज्य शासन के दिशा निर्देशों के अनुरूप किया जाना प्रस्तावित है। इस वर्ष निम्नानुसार प्रतियोगिता आयोजित किया जाना है। पन्ना टाइगर रिजर्व द्वारा प्रतियोगितायें आयोजित कराया जाना है। उन्होंने बताया कि कविता पाठ प्रतियोगिता जिला स्तर पर एवं राज्य स्तर पर आयोजित की जावेगी। प्रतियोगिता का प्रथम चरण 10 से 20 सितंबर 2020 तक होगा तथा 25 सितम्बर 2020 तक परिणाम घोषित किया जावेगा। कविता पाठ का वीडियो इस कार्यालय के ई-मेल किचजत82/हउंपसण्बवउ पर 20 सितंबर को सायं 5.00 बजे तक प्राप्त हो जाना चाहिए। कविता पाठ के सम्बन्ध दिए गए निर्देश का पालन किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने बताया कि कविता पाठ प्रतियोगिता में प्रतिभागी घर पर ही कविता पाठ करेंगे एवं उसका वीडियो बना कर उपरोक्त ई-मेल पर अथवा पेन ड्राइव द्वारा प्रेषित करेंगे। कविता पाठ प्रतियोगिता माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक वर्ग हेतु अलग-अलग आयोजित की जावेगी। प्रत्येक वर्ग में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार दिये जायेंगे। अधिकतम 90 सेकेण्ड का वीडियो ही मान्य होगा। वीडियो के प्रारम्भ में प्रतिभागी अपना नाम, कक्षा, ग्राम/शहर का नाम, कबिता का शीर्षक एवं कवि का नाम बतायेंगे तत्पश्चात कविता पाठ करेंगे। कविता का विषय वन्यप्राणी, वन एवं पर्यावरण से सम्बन्धित होना चाहिए। कविता हिन्दी में होनी चाहिए। कविता स्वलिखित एवं अन्य किसी कवि द्वारा रचित हो जिसका पूर्ण अथवा अंश का पाठ प्रतिभागी द्वारा किया जावेगा। कविता पाठ से नकारात्मक भाग तथा किसी अन्य विषय पर भावनायें आहत करने वाली होने की स्थिति में कविता अमान्य की जावेगी। प्रतिभागी द्वारा स्कूल यूनीफार्म पहनकर ही कविता पाठ करना अनिवार्य होगा। कविता पाठ का वीडियो उपयुक्त रोशनी में बना होना चाहिए जिससे प्रतिभागी का चेहरा स्पष्ट दिख सके। वीडियो प्रातः 7.00 से 9.00 बजे या सायं 4.00 से 6.00 बजे के माध्य घर के बाहर प्रकृतिक रोशनी में बनाने पर वीडियो अधिक अच्छा बन सकेगा। कविता पाठ में अंक-विषयवस्तु, पाठन की शैली, भाष एवं गणवेश पर दिये जायेंगे। विजेताओं को जिला स्तर एवं राज्य स्तर पर अलग-अलग पुरुस्कार दिये जावेंगे। उन्होंने बताया कि बाघसखा दीवार चित्रकला प्रतियोगिता अन्तर्गत वन्यप्राणी जागरूकता फैलाने एवं वन कर्मियों का छात्र-छात्राओं एवं समाज से जुड़ाव की दृष्टि से यह प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। इस प्रतियोगिता के तहत परिक्षेत्र कार्यालय परिसर अथवा अन्य वन विभाग के भवनों में उपयुक्त दीवाल पर निर्धारित आकार (6x8 फुट) में पेंटिंग की जावेगी। चित्रकला बनाने वाले दल में 07 सदस्य होंगे जिसमें दल प्रमुख परिक्षेत्र अधिकारी के अतिरिक्त 02 स्थानीय व्यक्ति, 02 छात्र-छात्रायें एवं 02 वन कर्मी होगंे। चित्रकला का विषय ’’मध्य प्रदेश की वन्यप्राणी धरोहर’’ है। चित्रकला बनाने में उपयोग होने वाले रंग आदि का व्यय इस कार्यालय वहन किया जावेगा। दीवार चित्रकला प्रतियोगिता माह सितम्बर 2020 से अन्तिम सप्ताह 28 सितंबर 2020 को आयोजित की जावेगी। प्रतियोगी को अधिकतम 06 घंटे में अपनी चित्रकला पूर्ण करनी होगी। परिक्षेत्र स्तरीय संयुक्त दल द्वारा चित्रित उक्त चित्र को वन मण्डल स्तर पर आंकलित पर तीन श्रेष्ठ चित्रकलाओं को पुरुस्कृत किया जावेगा। मिट्टी का जादू मूर्ति कला प्रतियोगिता अन्तर्गत वन्यप्राणी संरक्षण जागरूकता फैलाने एवं वन कर्मियों का ग्राम समाज से जुडाव की दृष्टि से यह प्रतियोगा आयोजित की जा रही है। यह प्रतियोगता दो चरणों में आयोजित होगी। प्रथम चरण में प्रत्येक बीट गार्ड अपने बीट क्षेत्र के चार छात्र-छात्राओं/व्यक्तियों से साथ 5 सदस्यीय दल बना कर मिट्टी की वन्यप्राणी की मूर्ति बनायेंगे। मूर्ति अधिकतम 01 फुट ऊंची होगी। प्रथम चरण में परिक्षेत्र स्तर पर बनायी गई कलाकृतियों का आंकलन कर श्रेष्ठ 03 मूर्तिकला को पुरुस्कर किया जावेगा तथा द्वितीय चरण में वन मण्डल स्तर पर वन्यप्राणी सप्ताह में दौरान परिक्षेत्र स्तर पर विजेता प्रतिभागियों में से 02 श्रेष्ठ मूर्तिकला का पुरुस्कृत किया जावेगा। उन्होंने कहा है कि अधिक से अधिक संख्या में प्रतियोगिता में भाग लेकर का कार्यक्रम को सफल बनाये।

कमेंट करें
YEWqL