दैनिक भास्कर हिंदी: तीसरे मोर्चे की जरूरत नहीं, भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस ही काफी : पवार

December 12th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली सफलता के बाद सहयोगी दलों के रुख भी बदल रहे हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) अध्यक्ष शरद पवार ने कहा है कि कांग्रेस ही भाजपा का विकल्प बन सकती है। अपने जन्मदिन पर बुधवार को श्री पवार ने कहा कि अब तो शहरी इलाकों में भी भाजपा की हार हो चुकी है। यह परिवर्तन की शुरुआत है। उन्होंने कहा कि देश के संविधान पर हमले हो रहे हैं। भाजपा को किसानों, आदिवासियों की नाराजगी की कीमत चुकानी पड़ी है। पवार ने कहा कि कांग्रेस ने अपना नेतृत्व नई पीढ़ि को सौपा है, जिसे लोगों ने समर्थन दिया है। भाजपा को हराना है तो कांग्रेस के अलावा कोई और विकल्प नहीं है। पवार के 78 वे जन्मदिन के मौके पर यशवंत राव चव्हाण प्रतिष्ठान में आयोजित कार्यक्रम के मौके पर वे पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।  

तीसरे मोर्चे की जरूरत नहीं

पवार ने कहा कि तीसरे मोर्चा नहीं पर सभी को अपने मतभेद भूल कर एकजुट होने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि यह केवल चार राज्यों का मामला नहीं है। अब जहां भी चुनाव होंगे इसी तरह का परवर्तन दिखाई देगा। चार राज्यों के विधानसभा चुनाव में लोगों ने अपनी नाराजगी जता दी है। जो चुनाव परिणाम हैं, उससे भाजपा छोड़ सभी दल संतुष्ट हैं। कांग्रेस का भाजपा के विकल्प के रुप में उभरना महत्वपूर्ण है। पवार ने कहा कि भाजपा ने जिस तरह स्वतंत्र संस्थाओं पर हमले किए वह लोगों को अच्छा नहीं लगा। सुप्रीम कोर्ट के चार न्यायाधीशों को प्रेस कांफ्रेंस करनी पड़ी। अब रिजर्व बैंक के गवर्नर ने भी इस्तीफा दे दिया है। सीबीआई में विवाद सामने आए हैं। राकांपा सुप्रीमों ने कहा कि हर चीज के लिए कुछ सीमा तय करनी जरूरी है।

चुनाव में एक हो जाएंगे भाजपा-शिवसेना 

प्रधानमंत्री ने जो वादे किए उसे पूरा करने की बजाय एक परिवार पर निशाना साधते रहे। अब इसका परिणाम इस तरह सामने आया है। उन्होंने कहा कि चुनाव परिणामों से शिवसेना को भी बल मिला है। आगामी चुनाव तक शिवसेना भाजपा नेतृत्व पर हमले जारी रखेगी। इसके बावजूद इस बात में कोई आशंका नहीं की लोकसभा चुनाव में एक साथ हो जाएंगे।