दैनिक भास्कर हिंदी: नपं उपाध्यक्ष के साथ ठेकेदार ने की हाथापाई, करोड़ों के घोटाला का आरोप

July 20th, 2019

डिजिटल डेस्क,छिंदवाड़ा/सौंसर। लोधीखेड़ा नगर पंचायत उपाध्यक्ष से हाथापाई का मामला गरमा गया है। उपाध्यक्ष की रिपोर्ट पर ठेकेदार के खिलाफ पुलिस ने मामला कायम किया। जहां न्यायालय से ठेेकेदार को जमानत मिल गई। इधर निरीक्षण करने पहुंची टीम विवाद के चलते बगैर जांच के लौट गई। हाथापाई की घटना को लेकर उपाध्यक्ष रमेश भोयर की रिपोर्ट पर पुलिस ने निर्माण एजेंसी के ठेकेदार सिद्धार्थ बरोनिया 29 वर्ष को रात्रि में गिरफ्तार किया था। एसआई कृष्णकुमार डोंगरे ने बताया कि ठेकेदार के खिलाफ धारा 294, 506, 323, 353, आईपीसी के तहत मामला कायम किया था। उसेेन्यायालय में पेश किया गया, जहां जमानत मिल गई। उपाध्यक्ष के साथ हुई घटना को लेकर कांग्रेस के पार्षदों में आक्रोश व्याप्त है। ठेकेदार से संपर्क नहीं होने से उनका पक्ष उपलब्ध नहीं हो पाया। 

यह था मामला

लोधीखेड़ा नगर में 9 करोड़ की जलआवर्धन योजना के तहत चल रहे निर्माण कार्य में हो रही गड़बड़ी की नगर पंचायत उपाध्यक्ष व सहयोगी पार्षदों ने बीते दिवस मुख्यमंत्री कमलनाथ व जिला प्रशासन को शिकायत की थी। इस पर गुरुवार को जांच टीम मोहगांव पहुंची थी। नपं कार्यालय में जांच टीम शिकायतकर्ता से चर्चा के बाद निर्माण स्थल कन्हान नदी पहुंची। यहां ठेकेदार ने उपाध्यक्ष के साथ विवाद शुरु किया जो हाथापाई तक पहुंच गया। कुछ समय बाद ठेकेदार अपने एक सहयोगी के साथ नपं कार्यालय पहुंचा और उपाध्यक्ष को ललकारा। 

बगैर जांच के लौटी टीम

मौके पर ठेकेदार व उपाध्यक्ष के बीच विवाद बढ़ते देख जांच टीम बगैर निरीक्षण किए लौट आई। टीम में पिपला सीएमओ राजकुमार इवनाती और पांढुर्ना नपा के उपयंत्री थे। श्री इवनाती ने बताया कि शिकायतकर्ता से चर्चा के बाद वे मौके पर पहुंचे थे, लेकिन ठेकेदार नेे जांच में सहयोग नहीं किया। 

नपं के सामने धरना दूंगा

नपं उपाध्यक्ष भोयर का कहना है कि ठेकेदार ने करोड़ों की योजना में भारी अनियमितता की है। डगवेल के स्थान पर इंटकवेल का निर्माण किया, गर्मी में जलस्त्रोत सूख रहा है। मैंने मुख्यमंत्री को शिकायत की थी। ठेकेदार के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं हुई तो मैं नपं के सामने धरने पर बैठूंगा। 

खबरें और भी हैं...