• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Corona does not differentiate between common man and VIP, isolated skulls participated in the demonstration

हद है : आम आदमी और वीआईपी में भेद नहीं करता कोरोना, आइसोलेटेड खोपड़े प्रदर्शन में हुए शामिल

January 19th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोविड संक्रमित नागरिकों के लिए आइसोलेट का समय निर्धारित किया गया है। विधायक कृष्णा खोपड़े भी कोविड संक्रमित पाए गए हैं, लेकिन मंगलवार को वे सार्वजनिक कार्य में शामिल हुए। उनकी उपस्थिति को लेकर सवाल उठने लगा तो उन्होंने सफाई दी है कि चिकित्सक की सलाह पर उन्होंने यह निर्णय लिया है। विधायक खोपड़े 12 जनवरी को कोविड संक्रमित हुए थे। 13 जनवरी को उन्होंने सोशल मीडिया पर जानकारी साझा की थी कि उनकी कोविड जांच रिपोर्ट पॉजिटिव है। नियमानुसार कोविड संक्रमितों को कम से कम 7 दिन तक आइसोलेट रखा जाता है, लेकिन मंगलवार को खोपड़े भाजपा के शहर अध्यक्ष प्रवीण दटके के साथ लकड़गंज पुलिस स्टेशन के सामने प्रदर्शन में शामिल हुए। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले के विरुद्ध प्रदर्शन किया गया। कहा जाने लगा कि 7 दिन की अवधि पूरी होने के पहले ही सार्वजनिक कार्यों में शामिल होकर विधायक खोपड़े कोविड संक्रमण का कारण बन रहे हैं। इस मामले पर खोपड़े ने वीडियो बयान जारी कर कहा है कि उन्होंने मनपा के स्वास्थ्य अधिकारी की सलाह पर यह निर्णय लिया। उन्हें कोविड संक्रमण के कोई लक्षण नहीं है। सर्दी-खांसी भी नहीं है। मनपा के  स्वास्थ्य अधिकारी संजय चिलकर ने कहा था कि 3 दिन का आइसोलेशन पर्याप्त होगा। फिर भी 5 दिन तक घर पर ही रहे। चिकित्सक की सलाह पर ही 6 वें दिन लोगों से मिलना जुलना शुरू किया।

कोविड नियमों का पालन नहीं, 20 पर कार्रवाई

कोविड नियमों का पालन कराने के लिए डीसीपी जोन-2 की उपायुक्त विनीता साहू ने मंगलवार की रात सीताबर्डी में पुलिस अधिकारियों के साथ पैदल मार्च किया। इस दौरान कोविड नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की गई। पुलिस ने बाजार में दुकानदार, फेरीवालों और ग्राहकों से अनुरोध किया कि, वे कोविड नियमों का पालन करें। इस दौरान बिना मास्क के घूम रहे करीब 20 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की गई। इस अवसर पर सीताबर्डी पुलिस के सीनियर पीआई, पीआई क्राइम, बीट अधिकारी और अन्य अधिकारी और पुलिस कर्मचारी पैदल मार्च में शामिल थे।

नोटिस-मनपा जवाब के इंतजार में

होम क्वारेंटाइन पीरियड समाप्त होने से पहले विधायक खोपड़े पार्टी के आंदोलन में सहभागी हुए, जिससे बवाल मच गया है। विरोधी पार्टियों द्वारा इस मुद्दे को लेकर आवाज उठाने पर मनपा ने खोपड़े को नोटिस भेजा है। मनपा प्रशासन को नोटिस के जवाब का इंतजार है। जवाब मिलने के बाद विधायक के साथ आम नागरिक की तरह कार्रवाई होगी, या नहीं, यह आने वाला समय ही बताएगा।

जानकारी मांगी गई है उचित कार्रवाई होगी

होम क्वारेंटाइन से बाहर आने की सूचना मिलने पर विधायक खोपड़े को  नोटिस भेजा गया है। नोटिस में पॉजिटिव रिपोर्ट की जांच तारीख, होम क्वारेंटाइन पीरियड की जानकारी मांगी गई है। नोटिस का जवाब मिलने पर पड़ताल के बाद उचित कार्रवाई निश्चित की जाएगी।

-राम जोशी, अतिरिक्त आयुक्त, महानगरपालिका

नियम तो कम से कम 7 दिन का है ही

बिना लक्षण वाले कोविड पाॅजिटिव मरीजों का क्वारेंटाइन पीरियड न्यूनतम 7 दिन है। इस कालावधि में घर से बाहर घूमने वाले मरीज पर जुर्माना लगाकर ताकीद दी जाती है। समुपदेशन कर संक्रमण की गंभीरता समझाई जाती है। इसके बावजूद नहीं मानने पर सख्ती से इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटाइन किया जाता है।

-डॉ. नरेंद्र बहीरवार, अतिरिक्त स्वास्थ्य अधिकारी, मनपा