दैनिक भास्कर हिंदी: कोरोना संदिग्ध मरीज का पार्लर में किया मसाज, युवतियों ने लगाई मदद की गुहार

March 19th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  ब्यूटी पार्लर में काम करने वाली दो युवतियां खुद को कोरोना संदिग्ध मानकर सरकारी अस्पताल इलाज के लिए पहुंचीं। वहां तैनात डॉक्टर ने नागपुर के मेडिकल अस्पताल ले जाने की सलाह देते हुए इलाज से इनकार कर दिया। इससे गुस्सा कर दोनों युवतियां थाने पहुंचीं और डॉक्टरों पर इलाज नहीं करने की शिकायत की। दरअसल, दोनों युवतियों ने कुछ दिन पहले ही पार्लर में जिस महिला का मसाज किया था, वह खांसी-जुकाम से पीड़ित थी। बाद में अफवाह उड़ी कि वह महिला कोरोना संक्रमित है। इसके बाद पार्लर की दोनों युवतियां के पैरों तले जमीन खिसक गई।

जानकारी के अनुसार उमरेड के ब्यूटी पार्लर में काम करने वाली 3 युवतियों ने कुछ दिन पहले पार्लर में पहुंची एक महिला का मसाज व मेकअप किया था। बताया जा रहा है कि महिला को खांसी थी। महिला के जाने के बाद तीनों युवतियों को भी खांसी होने लगी। किसी मित्र ने युवतियों को बताया कि जिस महिला का उन्होंने मेकअप किया था, वह कोरोना संक्रमित थी।इससे घबराकर 16 मार्च को दो युवतियां उपचार के लिए उमरेड के ग्रामीण अस्पताल पहुंचीं। डॉक्टरों को पूरा मामला बताया। इसके बाद डाक्टरों ने इलाज करने से इनकार कर दिया। डॉक्टरों ने साफ कहा कि- इससे संबंधित उपचार यहां नहीं होगा। इसके लिए नागपुर मेडिकल कॉलेज ले जाने की सलाह दी। उमरेड के ग्रामीण अस्पताल के डॉ. सचिन धामगाए  ने पर्चे पर कोरोना संदिग्ध लिखा। 16 मार्च से अब तक दोनों लड़कियां चेकअप के लिए नागपुर नहीं गईं। यह चर्चा उमरेड व ग्रामीण क्षेत्र में पहुंचते ही लोगों में दहशत का माहौल बन गया। बुधवार को दोनों युवतियां उमरेड पुलिस स्टेशन पहुंचीं और ग्रामीण अस्पताल के डॉक्टरों पर इलाज नहीं करने का आरोप लगाया। इस दौरान काफी देर तक हंगामे की स्थिति बनी रही।  

कोरोनावायरस से संक्रमित फेफड़े की पहली 3D तस्वीर आई सामने, देखते ही सहमी दुनिया
 

नागपुर के मेडिकल अस्पताल किया था रेफर
उमरेड में अभी तक कोई मरीज नहीं मिला है। जो भी बातें सामने आ रही हैं, अफवाह है। लड़कियां कोरोना से संबंधित चेकअप के लिए अाई थीं। हमारे यहां कोई सुविधा नहीं होने से इसे ओपीडी डॉक्टर ने जीएमसी नागपुर भेजा था। लेकिन दोनों मेडिकल गईं या नहीं इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। फिलहाल उमरेड शहर और ग्रामीण में ऐसी कोई स्थिति नहीं है। प्रशासन की तरफ से जो  भी निर्देश मिलता है, उसके अनुसार काम किया जा रहा है। - डाॅ. सचिन तड़स, वैद्यकीय अधिकारी, ग्रामीण अस्पताल, उमरेड

युवतियों को नोटिस की तैयारी
ग्रामीण अस्पताल में डाक्टरों से उपचार नहीं मिलने की शिकायत लेकर दो युवतियां पहुंची थीं। इस पर हमने अस्पताल को सूचित किया है। साथ ही दोनों युवतियों ने दहशत फैलाने का काम किया है। इसके लिए उन्हें भी नोटिस जारी करने की तैयारी है।
-विलास काले,   पुलिस निरीक्षक, उमरेड पुलिस स्टेशन 
 

खबरें और भी हैं...