दैनिक भास्कर हिंदी: पुलिस वालों ने रंगरेलियां मनाने मांगी लड़कियां और रिश्वत, ब्यूटी पार्लर में छापा मारकर धमकाया

September 4th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। ब्यूटी पार्लर संचालिका से पुलिस विभाग के एएसआई और हवलदार द्वारा रंगरेलियां मनाने के लिए तीन लड़कियां और रिश्वत की मांग किए जाने के  खुलासे से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। भ्रष्टाचार प्रतिबंधक विभाग के भंडारा की टीम ने दोनों के खिलाफ प्रताप नगर थाने में प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार किया है। 

प्रकरण इस प्रकार है 

शिकायतकर्ता युवती अमरावती रोड नागपुर निवासी है। वह ब्यूटी पार्लर एंड स्पा सेंटर की संचालिका है। गत दाे वर्ष में वाड़ी पुलिस और सामाजिक सुरक्षा विभाग के दस्ते ने तीन बार उसके ब्यूटी पार्लर और स्पा सेंटर में छापा मारा था। सामाजिक सुरक्षा विभाग के एएसआई दामोधर राजुरकर (56) और हवलदार शीतलाप्रसाद मिश्रा (51) शिकायतकर्ता के खिलाफ एमपीडीए के तहत कार्रवाई नहीं करने के बदले में मौज-मस्ती के लिए तीन लड़कियां और 35 हजार रुपए रिश्वत की मांग कर रहे थे, पर सौदा 25 हजार पर तय हुआ था। करीब तीन हफ्ते से शिकायकर्ता को फोन और प्रत्यक्ष मुलाकात कर परेशान किया जा रहा था। इस बीच शिकायतकर्ता ने भ्रष्टाचार प्रतिबंधक विभाग को शिकायत कर दी। 

भंडारा की टीम ने की कार्रवाई

मामले की गंभीरता को देखते हुए स्थानीय विभाग द्वारा जांच पड़ताल में मामला लीक होने की आशंका थी। लिहाजा, भंडारा की टीम को कार्रवाई करने का आदेश दिया गया था। राजुरकर और मिश्रा पर सुनियोजित तरीके से शिकंजा कसा गया। तय योजना के तहत 31 अगस्त को भ्रष्टाचार प्रतिबंधक विभाग भंडारा की टीम का एक कर्मचारी सादे लिबास में शिकायतकर्ता का परिचित बनकर सामाजिक सुरक्षा विभाग में गया। उस कर्मचारी को राजुरकर और मिश्रा ने भी नहीं पहचाना। दोनों ने बेझिझक उस कर्मचारी के सामने ही अपनी मांग दोहराई। इसकी पुष्टि होने से मंगलवार को राजुरकर और मिश्रा के खिलाफ प्रतापनगर थाने में प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार किया गया है। फिलहाल उन्हें बर्डी थाने के हवालात में रखा गया है। 

मुंबई से आए मित्र के लिए मांगी थीं लड़कियां  

पूछताछ के दौरान मिश्रा ने भ्रष्टाचार प्रतिबंधक विभाग की टीम को बताया कि लड़कियों की मांग उन्होंने मुंबई से आए अपने एक मित्र के लिए की थी। लड़कियां किस होटल या फार्म हाउस पहुंचाना था, इस सवाल पर मिश्रा का कहना था कि हम जहां बोलेंगे, वहां पर लड़कियां उपलब्ध करानी होगी। वह मित्र पुलिस विभाग से ही था, कोई अन्य इसका खुलासा नहीं हुआ है।