दैनिक भास्कर हिंदी: कामठी में मिला डेंगू का मरीज, नागपुर में चल रहा उपचार

January 15th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  कामठी तहसील अंतर्गत येरखेड़ा गांव में एक 15 वर्षीय छात्र डेंगू सदृश्य बीमारी ग्रसित मिलने से परिसर में खलबली मच गई है। इस क्षेत्र में नाले की सफाई नहीं होना, जमा पानी की निकासी नहीं होना और सफाई के अभाव में यहां बीमारियां फैल रही हैं। छात्र का नागपुर के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

येरखेड़ा परिसर में अलंकार नगर, तिड़के ले-आउट में रहने वाले महेश कुंभारे का 15 वर्षीय प्रेम नामक बेटा कक्षा 10वीं में अध्ययनरत है। इस माह की 5 तारीख को उसे बुखार आया और फिर उतर गया। फिर 8 तारीख को बुखार आने पर उसे लकड़गंज, नागपुर के न्यू इरा हॉस्पिटल ले जाया गया। अस्पताल में 9 तारीख को कुछ टेस्ट करने पड़े। प्रेम को डेंगू की आईजीजी निगेटिव, आईजीएम निगेटिव और एनएस-1 पॉजिटिव की रिपोर्ट मिली। प्रेम की प्लेटलेट लगातार कम होने से डाक्टरों ने उसे भर्ती कर उसका तुरंत उपचार शुरू किया। प्रेम की हालत में फिलहाल सुधार है।

परिसर के लोगों का मानना है कि, परिसर में गंदगी और सफाई का अभाव रहता है। सरपंच से बार-बार शिकायत के बाद भी उनके कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही है। सरपंच केवल नाम की हैं। सारा कारोबार उनके पति मनीष कारेमोरे ही संभालते हैं। जनता का आरोप है कि, हमने वोट देकर उन्हें गांव का सरपंच बनाया, लेकिन उन्होंने गांव के विकास और देखभाल से ही मुंह मोड़ रखा है। 

नियमित होती है गांव की सफाई
तहसील में सबसे बड़ी ग्राम पंचायत येरखेड़ा है। यहां नियमित साफ-सफाई होती है, जो आरोप नागरिक लगा रहे हैं वह बेबुनियाद हैं। -मंगला कारेमोरे, सरपंच, येरखेड़ा

पूरी तरह नहीं, लेकिन लक्षण डेंगू के हैं
येरखेड़ा के 15 वर्षीय प्रेम कुंभारे की जो मेडिकल रिपोर्ट आई है। रिपोर्ट आईजीजी और आईजीएम निगेटिव और एनएस-1 पॉजिटिव पाई गई है। इससे यह कहना गलत होगा कि, यह डेंगू का मरीज नहीं है। रिपोर्ट के अनुसार प्लेटलेट कम होने से उसे सही इलाज मिलना बेहद जरूरी है। डेंगू बीमारी को लेकर कामठी का चिकित्सा विभाग काफी सतर्क है। शिकायत मिलते ही टीम वहां पहंुचकर तुरंत अपना काम शुरू कर देती है।  -डी.पी. चोखांद्रे, वैद्यकीय अधीक्षक, उपजिला अस्पताल, कामठी

खबरें और भी हैं...