comScore

कोरोना के खिलाफ रेलवे अस्पताल के डॉक्टर्स ने कमर कसी

कोरोना के खिलाफ रेलवे अस्पताल के डॉक्टर्स ने कमर कसी

इंतजाम 830 मरीजों के इलाज की व्यवस्था, जरूरत पड़ी तो एक फ्लोर को आइसोलेशन वॉर्ड  में बदल दिया जाएगा
डिजिटल डेस्क  जबलपुर ।
कोरोना वायरस से निपटने की पूरी तैयारी रेलवे अस्पताल ने कर ली है। अस्पताल के एक हिस्से में 30 बिस्तरों वाला आइसोलेश वॉर्ड बना लिया गया है। चिकित्सकों की सुरक्षा के इंतजाम करने के साथ वेंटिलेटर सहित जरूरी उपकरणों और दवाओं का स्टॉक भी किया जा चुका है। रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार कोविड-19 से जुड़े देश भर में मामले सामने आने के बाद रेल प्रशासन ने केन्द्रीय रेल अस्पताल प्रबंधन को कोरोना वायरस से निपटने चिकित्सीय सेवाएँ उपलब्ध कराने के निर्देश दिए थे, जिसके बाद आनन-फानन में रेल अस्पताल की एक बिल्डिंग में आइसोलेशन वॉर्ड पूरे चिकित्सीय उपकरणों के साथ तैयार किया गया और प्रशिक्षित स्टाफ को आइसोलेशन वॉर्ड की जिम्मेदारी सौंपी गई। अस्पताल से जुड़े सूत्रों का कहना है िक भले ही अभी 30 िबस्तरों वाले आइसोलेशन वॉर्ड की व्यवस्था की गई है लेकिन जरूरत पडऩे पर एक बिल्डिंग के पूरे फ्लोर को आइसोलेशन वॉर्ड में बदला जा सकता है, ऐसी तैयारी रेल प्रशासन ने कर ली है। 
अभी आ रहे सर्दी-बुखार के मरीज 
रेलवे अस्पताल में अभी तक कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज नहीं आया है, लेकिन मौसम बदलने के बाद सर्दी-बुखार से पीडि़त मरीज आ रहे हैं, जिन्हें रेलवे अस्पताल के चिकित्सक परामर्श दे रहे हैं और उन्हेें अस्पताल से दवाएँ भी मिल रही हैं। सामान्य दिनों की तरह पिछले दो सप्ताह के दौरान मौसमी बीमारियों से ग्रसित मरीजों का आना-जाना लगा हुआ है, इसके बावजूद रेल चिकित्सक किसी भी स्थिति का सामना करने को तैयार है।  रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार मार्च माह के दूसरे सप्ताह से रेल अस्पताल प्रबंधन ने रेल अस्पताल के साथ रेलवे स्टेशन पर कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए जागरूकता अभियान की शुरूआत की थी, जिसमें मुख्य रेलवे स्टेशन पर कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए जहाँ एक ओर अनाउंसमेंट करा कर यात्रियों में जागरूकता फैलाने का काम किया गया था, वहीं दूसरी ओर प्लेटफॉर्म नं. 1 और 6 पर हैल्प डेस्क स्थापित कर स्टेशन पर आने वाले और ट्रेनों से उतरने वाले यात्रियों की मशीनों से कोरोना संक्रमण संबंधी जाँचें भी की गई थीं। जब मुख्य रेलवे स्टेशन पर जागरूकता अभियान चल रहा था, तब इंदिरा मार्केट स्थित रेल अस्पताल के एक भवन में कोरोना से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए आइसोलेशन वॉर्ड बनाने की प्रक्रिया पूरी कर ली गई थी।

कमेंट करें
rt0A3