दैनिक भास्कर हिंदी: छुट्‌टी के दिन ही लगेगी प्रोफेसरों की चुनाव ड्यूटी

March 25th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। केंद्रीय चुनाव आयोग ने बांबे हाईकोर्ट को सूचित किया है कि वह सिर्फ अवकाश के दिनों में ही कालेज के प्रोफेसरों को चुनावी ड्युटी में लगाएगा। सोमवार को केद्रीय चुनाव आयोग की ओर से पैरवी कर रहे अधिवक्ता प्रदीप राजगोपाल ने हाईकोर्ट में यह बात कही। उन्होंने साफ किया कि सिर्फ चुनाव ड्यूटी के प्रशिक्षण के लिए प्रोफेसरों को कार्य दिवस पर बुलाया जाएगा। चुनावी ड्यूटी के खिलाफ बांबे यूनिवर्सिटी कालेज टीचर्स यूनियन ने अधिवक्ता मिहीर देसाई व स्वाराज जाधव के मार्फत हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी।

न्यायमूर्ति अभय ओक व न्यायमूर्ति एमएस शंकलेचा की खंडपीठ के सामने याचिका पर सुनवाई हुई। इस दौरान अधिवक्ता श्री देसाई ने कहा कि मुंबई विश्वविद्यालय से जुड़े कालेजों में सोमवार से विभिन्न पाठ्यक्रमों की परीक्षा शुरु हो गई है। ऐसे में शिक्षकों के लिए दोहरी ड्यूटी कर पाना संभव नहीं है। इस बात पर केद्रीय चुनाव आयोग के वकील ने कहा कि प्रोफेसरों को सिर्फ अवकाश के दिन ही चुनावी ड्यूटी में लगाया जाएगा।

सिर्फ चुनावी ड्युटी के प्रशिक्षण के लिए उनको कार्यदिवस पर बुलाया जाएगा। इन दलीलों को सुनने के बाद खंडपीठ ने कहा कि पहले यह तय किया जाए कि प्रोफेसरों से चुनावी ड्यूटी करानी है या फिर अध्यायपन कार्य। खंडपीठ ने फिलहाल चुनाव आयोग के वकील की बात को रिकार्ड कर याचिका को समाप्त कर दिया। आयोग का यह फैसला सिर्फ बांबे यूनिवर्सिटी कालेज टीचर्स यूनियन के  सदस्यों पर ही लागू होगी।