comScore

मुंबईवासी ही बने रहेंगे फड़णवीस, नागपुर में बंगले का हो रहा रिनोवेशन

मुंबईवासी ही बने रहेंगे फड़णवीस, नागपुर में बंगले का हो रहा रिनोवेशन

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मुख्यमंत्री पद छोड़ने के बाद देवेंद्र फड़णवीस को सरकारी बंगला भी छोड़ना पड़ेगा। मुंबई में ही उन्हें वर्षा निवास के बजाय अन्य सरकारी बंगला मिलेगा। लेकिन नागपुर में वे मेहमान की तरह ही आते रहेंगे। यह भी कहा जा सकता है कि वे मुंबईवासी बने रहेंगे। नागपुर में उनका निजी आवास फिलहाल रहने योग्य नहीं है। निर्माण कार्य चल रहा है। यह कार्य पूरा हाेने में 3 से 4 माह लग सकते हैं। आवश्यक होने पर उन्हें रविभवन में भी रुकना पड़ सकता है। गौरतलब है कि फड़णवीस का पैतृक घर धरपमेठ के त्रिवेणी पार्क परिसर में है। अक्टूबर 2014 में पहली बार मुख्यमंत्री चुने जाने के कुछ दिन बाद ही फड़णवीस मुंबई में शिफ्ट कर गए। उनके परिवार में मां सरिता फड़णवीस, पत्नी अमृता फड़णवीस, पुत्री दिविजा व भाई आशीष फड़णवीस शामिल है। मार्च 2015 से फड़णवीस मुंबई में ही रहने चले गए हैं। उनकी पुत्री ने वहीं की स्कूल में दाखिला लिया है।

निजी क्षेत्र की बड़ी बैंक में कार्यरत रही अमृता फड़णवीस ने भी मुंबई में रहकर अपने करियर को नई दिशा देने का प्रयास किया है। अमृता को गीत संगीत का शौक है। उन्होेंने अभिनेता अमिताभ बच्चन के साथ गीत एलबम भी बनाया है। इसके अलावा विदेश में लाइव संगीत कार्यक्रम में शामिल होती रही है। मुख्यमंत्री बनने के बाद फडणवीस शायद ही कभी त्रिवेणी पार्क के घर पहुंचे। उनके इस घर को निजी सचिवों का कार्यालय बनाया गया था। लेकिन बाद में सिविल लाइन स्थित मुख्यमंत्री के सचिवालय में फडणवीस के सचिवों का कार्यालय शिफ्ट हो गया। लिहाजा फिलहाल फडणवीस का नागपुर में रहने लायक निजी निवास नहीं हैं। हालांकि उनके परिवार के अन्य सदस्यों व मित्रों की सहायता से वे तत्काल आवास की सुविधा कर सकते हैं। इस मामले में उनके एक करीबी कार्यकर्ता का कहना है कि फडणवीस वैसे भी नागपुर में कम ही आने वाले हैं। वे मुंबई में रहने लगे हैं। शनिवार या रविवार को पहले की तरह आते रहेंगे। उनके निजी सहायक शशांक दाभोलकर ने भी कहा है कि फिलहाल फडणवीस के लिए नागपुर में निजी आवास का कोई विषय नहीं है। पुराने घर का पुननिर्माण कार्य जल्दी होगा। लेकिन दिविजा की पढ़ाई के सिलसिले में उनका परिवार फिलहाल मुंबई में ही रहेगा। 

कमेंट करें
HIC6h