दैनिक भास्कर हिंदी: कोल स्टाक में फिर लगी आग, नहीं हो रहा था पानी का छिड़काव

November 22nd, 2017

डिजिटल डेस्क छिंदवाड़ा/जुन्नारदेव । मोआरी फेज थ्री ओसीएम माइंस के समीप कोल स्टाक में आग भभकने का क्रम लगातार जारी है। तीन दिन पहले कोल स्टाक में आग भभकी थी, इसके बाद मंगलवार को एक बार फिर कोल स्टाक में आग लग गई।
कोल स्टाक से उठती लपटों को काबू पाने के लिए वेकोलि प्रबंधन ने परासिया और जुन्नारदेव से दमकल वाहन को बुलाया। लगभग तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग को काबू में किया गया। कोल स्टाक में आए दिन भभक रही आग के कारण लाखों का कोयला जलकर खाक होने की संभावना है। ओसीएम में बिजली गुल होने  के कारण कोल स्टाक पर पानी का छिड़काव करने वाले मोटर पंप बंद थे।
सोमवार को सुबह दो घंटे और रात से रविवार सुबह 11 बजे तक बिजली गुल थी, जिसके कारण कोल स्टाक में पानी का छिड़काव नहीं हो रहा था, जिसके कारण धधक रहे कोयले से कोल स्टाक में आग लग गई। मंगलवार को दोपहर बाद जब बिजली आई तब दोबारा पानी के मोटर पंप शुरू हो सके। इसी बीच फायर ब्रिगेड वाहनों के माध्यम से कोल स्टाक पर पानी का छिड़काव कर कोल स्टाक की आग बुझाई गई।
  लाखों का कोयला जलकर खाक
आए दिन कोल स्टाक में आगजनी की घटना होने के कारण बड़े पैमाने पर कोयला राख में तब्दील हो रहा है। सीमेवा के जोनल महामंत्री नसीमुद्दीन का कहना है कि कोल स्टाक में आए दिन आग लग रही है, जिससे लाखों रुपए का कोयला जलकर राख हो रहा है। उन्होंने प्रबंधन से इस मामले की जांच किए जाने की मांग की है।
कोल स्टाक के धुएं से ग्रामीण परेशान
कोल स्टाक से उठते धुएं के कारण ओसीएम माइंस के आसपास के रहवासी परेशान है। कोल स्टाक से रोजाना धुआं उठ रहा है, जिसमें गैसें भी  रहती है। इस धुएं का सीध असर माइंस के आसपास के रहवासियों के स्वास्थ्य पर पड़ रहा है। ग्रामीणों ने ओसीएम के समीप प्लांट बनाकर अलग-अलग स्थानों पर कोयले का स्टाक किए जाने की मांग वेकोलि प्रबंधन से की है।
इनका कहना है...
बिजली आपूर्ति बाधित होने के कारण पानी का छिड़काव करने वाले मोटर पंप बंद हो गए थे, जिसके कारण कोल स्टाक में आग भभक गई थी। दमकल वाहनों को बुलाकर आग को नियंत्रित कर लिया गया है।
विनोद कुमार पांडे वेकोलि सर्वे अधिकारी अंबाड़ा सब एरिया