comScore

उड़नदस्ते और आयकर विभाग की कार्रवाई, तीन कार से करोड़ रुपए जब्त किए

उड़नदस्ते और आयकर विभाग की कार्रवाई, तीन कार से करोड़ रुपए जब्त किए

डिजिटल डेस्क, नागपुर। चुनावी माहौल को देखते हुए जगह-जगह पुलिस चौकियां बनाई गई हैं। पुलिस विभाग नाकाबंदी कर चार पहिया वाहनों, बसों और टैक्सियों की जांच कर रहा है। सोमवार को शहर में दो स्थानों पर जांच के दौरान तीन कारों से करोड़ों रुपए नकद बरामद किया गया। कार चालकों द्वारा टालमटोल जबाब देने पर संबंधित थानों की पुलिस उन्हें थाने लेकर गई। पुलिस रकम जब्त कर ली है। इस घटना की सूचना जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा गठित उड़नदस्ते और आयकर विभाग के अधिकारियों को दी गई। कार्रवाई पांचपावली और सीताबर्डी पुलिस ने की है। रकम कार चालक कहां लेकर जा रहे थे, इस बारे में पूछताछ देर रात तक जारी रही। संबंधित विभाग के अधिकारी- कर्मचारी मशीनों से नोटों की गिनती करने में जुटे रहे।

सोमवार को पुलिस दल ने पांचपावली उडानपुल पर नाकाबंदी के दौरान कार क्रमांक एमएच 49 एफ- 0867 को रोका। इस दौरान दूसरी कार के आने पर पुलिस ने उसे भी रोका। जांच में एक कार से 71 लाख और दूसरी कार से 5 लाख रुपए मिले। दोनों कार चालकों से पूछने पर संतोषजनक जबाब नहीं मिलने पर कार चालकों को पुलिस थाने लेकर गई। कार्रवाई के दौरान पांचपावली थाने के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक अशोक मेश्राम स्वयं मौजूद थे। सूचना पर थाने में आयकर विभाग व जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा गठित उड़नदस्ता भी पहुंचा। उसके बाद नोटों की गिनती शुरू की गई। सीताबर्डी क्षेत्र के मानस चौक में भी एक ओला कार को नाकाबंदी के दौरान पुलिस और जिला निर्वाचन कार्यालय के उड़नदस्ते ने रोका। कार के अंदर 25 लाख रुपए मिले। रकम के बारे में कार चालक पुलिस को जबाब देने में टालमटोल करने लगा, तब सीताबर्डी के वरिष्ठ थानेदार जग्वेंद्र राजपूत ने वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना देकर कार से रुपए जब्त किए। कार व रुपए को थाने ले जाया गया। सीताबर्डी थाने में आयकर अधिकारी- कर्मचारी पहुंच कर नोटों की गिनती शुरू किए।

सूत्रों के अनुसार देर रात तक संभ्रम बना हुआ था कि यह रकम चुनाव के लिए मंगाई गई थी या किसी अन्य व्यक्ति की है। देर रात तक इस स्थिति के बारे में जानकारी स्पष्ट नहीं हो पाई थी। पांचपावली और सीताबर्डी क्षेत्र में कार से जब्त की गई रकम के बारे में कार चालकों से पूछताछ की जा रही थी। संबंधित थाने की पुलिस इस दिशा में भी जांच कर रही है कि कहीं यह रकम चुनाव में उम्मीदवारों पर खर्च के किसी पार्टी की तो नहीं है।

कमेंट करें
zrsjv