comScore

CAG: भारत के नए नियंत्रक महालेखा परीक्षक बने गिरीश चंद्र मुर्मू, राष्ट्रपति भवन में ली शपथ

CAG: भारत के नए नियंत्रक महालेखा परीक्षक बने गिरीश चंद्र मुर्मू, राष्ट्रपति भवन में ली शपथ

हाईलाइट

  • गिरीश चंद्र मुर्मू ने नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक का पदभार संभाला
  • राष्ट्रपति भवन में मुर्मू ने रामनाथ कोविंद के समक्ष पद की शपथ ली
  • कैग के तौर पर जीसी मुर्मू का कार्यकाल 20 नवंबर 2024 तक होगा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। जम्मू- कश्मीर के पूर्व उप-राज्यपाल गिरीश चंद्र मुर्मू भारत के नए नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) बन गए हैं। मुर्मू ने शनिवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित हुए समारोह में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के समक्ष पद एवं गोपनीयता की शपथ ली। शपथ समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू भी मौजूद रहे। शपथ लेने के बाद मुर्मू कैग कार्यालय पहुंचे और यहां महात्मा गांधी और बीआर अंबेडकर को श्रद्धांजलि अर्पित की।ऑफिस में भारतीय लेखागार और अकाउंट विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों ने उनका स्वागत किया।

कैग के तौर पर मुर्मू का कार्यकाल 20 नवंबर 2024 तक रहेगा। गुजरात कैडर के 1985 बैच के आईएएस अधिकारी मुर्मू राजीव महर्षि का स्थान लेंगे। राजस्थान कैडर के 1978 बैच के आईएएस अधिकारी महर्षि ने सितंबर 2017 में यह पद ग्रहण किया था। मुर्मू ने 5 अगस्त को जम्मू एवं कश्मीर केंद्रशासित प्रदेश के उपराज्यपाल के पद से इस्तीफा दिया था। 5 अगस्त को ही जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को हटाने की पहली वर्षगांठ थी।

जम्मू एवं कश्मीर जाने से पहले मुर्मू व्यय विभाग में संयुक्त सचिव, वित्तीय सेवा विभाग और राजस्व विभाग में अतिरिक्त सचिव और फिर व्यय विभाग में पूर्ण सचिव के रूप में सेवा देने से पहले विशेष सचिव के रूप में अपनी सेवाएं दी थी। मुर्मू ने इससे पहले गुजरात में भी महत्वपूर्ण पदों पर काम किया है। उनके पास प्रशासन, आर्थिक और आधारभूत क्षेत्रों का लंबा अनुभव है।

उत्कल विश्वविद्यालय से राजनीतिक शास्त्र से परास्नातक किया है। यूनिवर्सिटी ऑफ बर्मिंघम से एमबीए की डिग्री हासिल की है। मुर्मू का जन्म ओडिशा के मयूरभंज में 21 नवंबर 1959 को हुआ था। उन्होंने डॉ. समिता मुर्मू से शादी की है और उनकी एक बेटी रूचिका मुर्मू व बेटा रूहान मुर्मू है।

कमेंट करें
T2Nbw