दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर के आस-पास अच्छी बारिश और शहर में बौछारों की उम्मीद

June 27th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  बारिश की लेटलतीफी के बीच  13 जून को आई बरसात अपने साथ मानसून की घोषणा तो लाई, लेकिन उसके बाद से ही शहर वर्षा के लिए तरस रहा है। कुछ उम्मीद बंधती है, तो वो भी टूट जाती है। अनुमान था कि बुधवार को तेज बौछारें शहर को राहत देंगी, लेकिन अब गुरुवार देर शाम कुछ बौछारों की उम्मीद बची है। शहर के आस-पास करीब 50 किमी के दायरे में अच्छी बौछारों के आसार हैं। 

द्रोणिका खिसक कर आगे

मौसम विभाग के अनुसार, अरब सागर और मध्य महाराष्ट्र पर बना चक्रवाती चक्र खिसक कर नीचे अरब सागर और दक्षिण महाराष्ट्र पर स्थित है। द्रोणिका भी आगे खिसक कर बिहार से नगालैंड तक खिंची है। इससे बारिश की बनी उम्मीद शिथिल हुई है। हालांकि तमिलनाडु तट के पास बंगाल की खाड़ी में बना चक्रवाती चक्र ऊपर की ओर बढ़कर अब आंध्र तट पर आ गया है। ईस्ट वेस्ट शीर जोन इन दोनों चक्रवातों के मध्य बना है। इससे विदर्भ सहित मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ में आंधी के साथ बौछारें आने की उम्मीद है। 

पारा सामान्य से 6 डिग्री ऊपर

बुधवार को पूरा दिन लोग तीखी धूप और उमस से परेशान रहे। दोपहर करीब 3 बजे कुछ बौछारों ने शहर को राहत देने की कोशिश जरूर की। उसके बाद धूप के तीखेपन में भी कमी नजर आई, लेकिन उमस से राहत नहीं मिली। इससे दिन तथा रात के तापमान में भी बढ़त दर्ज की गई।  दिन का पारा सामान्य से 6 डिग्री ऊपर पहुंच गया है। इससे लोग हलाकान हो रहे हैं। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार को अधिकतम तापमान 39.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 6 डिग्री ऊपर रहा। न्यूनतम तापमान सामान्य से 4 डिग्री ऊपर 28.3 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। आर्द्रता अधिकतम 58 व न्यूनतम 55 प्रतिशत रही।

2 से 5 जुलाई तक अच्छी बरसात

बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है। इसके 30 जुलाई तक परिपक्व होने की उम्मीद है। इसके प्रभाव से 2 से 5 जुलाई तक तेज बरसात के आसार हैं। 3 व 4 जुलाई को छत्तीसगढ़ व विदर्भ में भारी बरसात की भी उम्मीद है।