दैनिक भास्कर हिंदी: सिद्धिविनायक मंदिर के पीछे काम कर रहे हेल्पर की बिजली के झटके से मौत

April 3rd, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। दादर इलाके में स्थित सिद्धिविनायक मंदिर के पीछे काम के दौरान हेल्पर के तौर पर काम कर रहे एक इलेट्रीशियन की मौत हो गई। घटना मंगलवार सुबह पौने चार बजे के करीब हुई। पुलिस मामला दर्ज कर छानबीन में जुटी हुई है। वहीं ठाणे में लोहे की सीढ़ियों पर खेल रही एक नौ साल की बच्ची की बिजली के झटके से मौत हो गई है। मामले में महाराष्ट्र राज्य विद्युत निगम (MSEB) के वायरमैन के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। दादर इलाके में बिजली के झटके से अपनी जान गंवाने वाले शख्स का नाम नसीम अली (23) है। वह शिवडी इलाके का रहने वाला था।

पुलिस के मुताबिक सिद्धिविनायक मंदिर के पीछे स्थित घाणेकर मार्ग पर बिजली के वायरिंग का काम चल रहा था। नसीम वहां ठेकेदार के साथ काम करने पहुंचा था। इसी दौरान उसका पैर लोहे की एक पाइप पर पड़ गया जिससे बिजली प्रवाहित हो रही थी। बिजली के झटके से नसीम बेहोश होकर गिर पड़ा। आसपास के लोग उसे अस्पताल ले गए लेकिन इलाज से पहले ही डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। दादर पुलिस ने संबंधित ठेकेदार के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 (अ) के तहत FIR दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

ठाणे में MSEB कर्मचारी की लापरवाही ने ली बच्ची की जान 
वहीं दूसरे मामले में ठाणे के वर्तक नगर इलाके में MSEB कर्मचारी की लापरवाही ने सिद्धी गुप्ता नाम की नौ साल की बच्ची की जान ले ली। स्थानीय लोगों का आरोप है कि यहां सोमवार को हुए मरम्मत कार्य के दौरान लापरवाही हुई और बिजली की तार खुली छोड़ दी गई जिससे लोहे की सीढ़ियों तक बिजली पहुंच गई। लोकमान्य नगर स्थित अपने घर की सीढ़ियों पर खेल रही बच्ची पर लोगों की नजर गई तो वह बिजली के झटके से कांप रही थी। किसी तरह उसे छुड़ाकर अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने मामले में MSEB कर्मचारी दत्ता पाटील के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है।