गृहमंत्री का पलटवार : गृहविभाग ने वानखेडे का पीछा करने  के लिए नहीं जारी किया आदेश

October 12th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेडे का मुंबई पुलिस द्वारा पीछा किए जाने के मामले से राज्य के गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटील ने यह कहते हुए पल्ला झाड़ लिया कि गृहविभाग की ओर से ऐसा कोई आदेश नहीं दिया गया था साथ ही उनके पास इस बारे में कोई जानकारी भी नहीं है। मंगलवार को पत्रकारों के सवाल के जवाब में वलसे पाटील ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि मुंबई पुलिस के अधिकारी किसी पर नजर रखते  हैं। उन्हें इस तरह का कोई आदेश भी नहीं दिया गया था। उन्होंने कहा कि आरोपों के बारे में मुझे ज्यादा जानकारी नहीं है। इस मामले में जानकारी लेने के बाद मैं कुछ बोल पाऊंगा। वहीं वलसे पाटील ने मंगलवार को राज्य के पुलिस महानिदेशक समेत कई आलापुलिस अधिकारियों के साथ लंबी बैठक भी की। हालांकि बैठक के बाद वलसे-पाटील और पुलिस महानिदेशक दोनों ने दावा किया कि इस दौरान कानून व्यवस्था को लेकर ही बात हुई। साथ ही उन्होनें बताया कि नशे के कारोबार पर लगाम लगाने के लिए राज्य के सभी जिलों में एंटी नार्कोटिक्स सेल बनाए जाएंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि वानखेडे पर नजर रखने से जुड़े मुद्दे पर कोई चर्चा नहीं की गई। बता दें कि वानखेडे ने राज्य के पुलिस महानिदेशक से शिकायत की थी कि दो पुलिसवाले सादी वर्दी में लगातार उनका पीछा करते हैं। यही नहीं ओशिवारा इलाके के जिस कब्रिस्तान में वे अपनी मां की कब्र के पास रोजाना जाते हैं वहां की सीसीटीवी तस्वीरें भी पुलिसवालों ने जबरन ली थी। वानखेडे ने सबूत के तौर पर पीछा करने वाले पुलिसवालों की सीसीटीवी तस्वीरें भी अधिकारियों को सौंपी थी। वानखेडे को कब्रिस्तान के प्रबंधकों की ओर से ही सूचना मिली थी कि खुद को पुलिसकर्मी बताने वाले दो लोग वानखेडे की सीसीटीवी फुटेज जबरन आपने साथ ले गए थे। 

खत्री से पूछताछ, नहीं आए आयोजक

क्रूज ड्रग्स पार्टी मामले में एनसीबी ने फिल्म प्रोड्यूसर और बिल्डर इम्तियाज खत्री से करीब तीन घंटे पूछताछ की। पूछताछ के बाद उसे घर जाने की इजाजत दे दी गई। लेकिन उसे तीसरे दौर की पूछताछ के लिए भी समन दिया गया है। एनसीबी ने मंगलवार को खत्री से दूसरी बार पूछताछ की है। इससे पहले शनिवार को खत्री से आठ घंटे पूछताछ की गई थी। एनसीबी ने क्रूज पार्टी के दिल्ली में रहने वाले दो आयोजकों को भी समन भेजकर मंगलवार को पूछताछ के लिए बुलाया गया था लेकिन वे हाजिर नहीं हुए।