comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

शव की हुई पहचान आईटी छात्र था युवक, लिव इन रिलेशनशिप में रह रही महिला ने फांसी लगाई 

शव की हुई पहचान आईटी छात्र था युवक, लिव इन रिलेशनशिप में रह रही महिला ने फांसी लगाई 

डिजिटल डेस्क, नागपुर। बुधवार को कामठी पुलिस नया थाना अंतर्गत घोरपड़ मार्ग स्थित पावनगांव में एक युवक का शव क्षत-विक्षत स्थिति में मिला था। मिसिंग रिपोर्ट के आधार पर और कपड़े तथा चप्पल को देखने के बाद माता-पिता ने वह शव उनके बेटे का होने की बात कही है। जबकि पुलिस अभी भी दावे के साथ कुछ भी कहने से इंकार कर रही है। बता दें कि, बुधवार को कामठी के नया पुलिस थाना अंतर्गत पावनगांव के एक खेत में पुलिस को करीब 28 से 30 उम्र के एक युवक का सिर कटा शव मिला था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए नागपुर के मेयो अस्पताल भेजा था। गुरुवार को फॉरेंसिक विभाग की मौजूदगी में उसका पोस्टमार्टम किया गया। पुलिस को पहले से ही स्पष्ट थी कि युवक का सिर पत्थर से कुचलकर उसकी हत्या की गई है। इस बीच पुलिस ने आसपास के पुलिस थानों से मिसिंग रिपोर्ट की जांच  की तो पता चला कि पारडी पुलिस थाना अंतर्गत शव से मिलता-जुलता एक युवक रविवार से लापता है और उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट पारडी थाने में दर्ज है। जांच करने पर  पता चला कि मृतक पारडी निवासी खुशाल दामोदर सवई है। पुलिस ने उसके माता-पिता को शव की शिनाख्त करने मेयो अस्पताल बुलाया। जहां मृतक की मां ने कपड़ों से और पिता ने चप्पल से उसकी पहचान की। सारी बातों की पृष्टि होने के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया। इधर पुलिस ने खुशाल के करीब 5 से 7 मित्रों को थाने लाकर पूछताछ की। सभी के मोबाइल खंगाले जा रहे हैं। मृतक खुशाल नागपुर के किसी कॉलेज में कम्प्यूटर में आईटी की शिक्षा ग्रहण कर रहा था। पुलिस अभी इस बात का पता लगाने में जुटी है कि हत्या की मुख्य वजह क्या है और हत्यारे कौन हैं। इस सबके बावजूद पुलिस यह स्पष्ट रूप से कतई नहीं कह रही है कि मृतक खुशाल ही है। पुलिस ने परिजनों से शव को दफनाने के लिए कहा है, ताकि जरूरत पड़ने पर शव को फिर से बाहर निकाला जा सके।

कुख्यात "गोपी' गैंग पर मकोका

उधर नंदनवन क्षेत्र की एक  बार में तोड़फोड़ कर काउंटर से पैसे लूटने वाले कुख्यात गोपी उर्फ गोपाल पुरुषोत्तम पराले और उसकी गैंग के सभी सदस्यों के खिलाफ मकाेका की कार्रवाई की गई। कार्रवाई पुलिस आयुक्त डा. भूषणकुमार उपाध्याय के मार्गदर्शन में की गई। जिन आरोपियों पर कार्रवाई की गई, उनमें आरोपी गोपी उर्फ गोपाल पुरुषोत्तम पराले (28)  श्रीरामनगर, वाठोड़ा ले-आउट, खरबी, वैभव अशोक तन्नेलवार (28)  प्लॉट नं. 68 , सद्भावना नगर, नंदनवन, हसनबाग पुलिस चौकी के सामने, नितीन माणिकराव देशमुख (28) दर्शन कॉलोनी, किशोर मुनीराम ठवरे (27)  चकोले वाड़ी, खरबी  पुलिस चौकी के पीछे, राहुल उर्फ  भैरव प्रमोद मेंढेकर (25) साईंबाबा नगर, खरबी निवासी शामिल है। पुलिस सूत्रोें के अनुसार पीतांबर मारोती कोहाट (47)  सर्वश्रीनगर, नंदनवन का है। बार में गत 30 अगस्त 2019 को रात के समय दो आरोपियों जमकर शराब पी। बिल देने की बात को लेकर आरोपियों ने वहां के कर्मचारियों से विवाद िकया। दोनों आरोपी पैसे देकर वहां से चले गए। कुछ देर बाद दोनों आरोपी अपने अन्य मित्रों के साथ बार में पहुंचे। आरोपी गोपी और उसके गैंग ने बार में जमकर तोड़फोड़ की और काउंटर से करीब 9 हजार रुपए नकदी लूटकर फरार हो गए।

कपड़े की दुकान से 1.30 लाख रुपए नकदी चोरी

वहीं तहसील क्षेत्र में एक कपड़े की दुकान का शटर तोड़कर अज्ञात चोर काउंटर से नकदी 1 लाख 30 हजार रुपए चुराकर फरार हो गया। पुलिस सूत्रों के अनुसार मस्कासाथ प्लॉट नंबर 407 निवासी राकेशकुमार जैन की शहीद चौक इतवारी में एस सन्स रेडीमेड होजियरी नामक दुकान है। गत 28 सितंबर को रात करीब 10 बजे वह दुकान बंद कर घर चले गए। 29 सितंबर को वह सुबह दुकान खोलने आए तब उन्हें शटर का ताला टूटा नजर आया। अज्ञात चोर दुकान के अंदर घुसकर काउंटर में रखा नकदी चुरा ले गया। इस मामले की शिकायत राकेशकुमार जैन ने तहसील थाने में की। पुलिस ने चोरी का मामला दर्ज किया। पुलिस अज्ञात चोर की तलाश कर रही है।

युवक से माउजर व कारतूस जब्त 

बिना लाइसेंस के एक ऑटोमेटिक माउजर व कारतूस लेकर घूम रहे युवक को पुलिस ने धरदबोचा। इस आरोपी का नाम राधेश्याम उर्फ चिकन चरण सनेश्वर (25) बिना संगम कामठी निवासी है। यह आरोपी गुरुवार की शाम में नवीन बीना भानेगांव आठवड़ी बाजार में बस स्टाप पर माउजर लेकर खड़ा था। गुप्त सूचना मिलने पर नागपुर ग्रामीण अपराध शाखा पुलिस के दस्ते ने कार्रवाई की। पुलिस सूत्रों के अनुसार ग्रामीण पुलिस अधीक्षक राकेश ओला ने विधानसभा चुनाव के मद्देनजर आरोपियों की धरपकड़ शुरू करने का आदेश दिया है। गुरुवार को ग्रामीण अपराध शाखा पुलिस विभाग के दस्ते ने पुलिस निरीक्षक अनिल जिट्टावार के नेतृत्व में कार्रवाई करते हुए आरोपी राधेश्याम उर्फ चिकन सनेश्वर को धरदबोचा। इस आरोपी से एक माउजर और एक कारतूस जब्त किया गया है। आरोपी ने पैंट की जेब में माउजर और कारतूस रखा था।

पता पूछने के बहाने बाइक सवार ने वृद्धा से छीनी चेन

घर के सामने खड़ी महिला से अखबार बांटने वाले का पता पूछने के बहाने से काले रंग की बाइक पर आए दो चेन स्नैचर महिला के गले से चेन छीनकर फरार हो गए। जिसकी कीमत करीब 45 हजार बताई जा रही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार प्लाट नंबर 60, पूर्व समर्थ नगर निवासी प्रणिता गजानन डबली (75) गत दिनों सुबह करीब 9.45 बजे घर के सामने खड़ी थी। इस दौरान काले रंग की बाइक से दो युवक पहुंचे औ महिला से अखबार बांटने वाले का पता  पूछने लगे, इस बीच पीछे बैठे युवक ने झटका मारकर महिला के गले से चेन छीन ली। प्रणिता कुछ समझ पाती इससे पहले ही आरोपी फरार हो गए। महिला ने धंतोली थाने पहुंचकर मामले की शिकायत दर्ज की। फरियादी की शिकायत पर अज्ञात आरोपियाें के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। आरोपियों की तलाश व आगे की जांच धंतोली पुलिस कर रही है।

"लिव इन रिलेशनशिप' में रह रही शादी-शुदा महिला ने फांसी लगाई 

मध्यप्रदेश के सिवनी क्षेत्र से पति का घर छोड़कर अपने दो साल के बेटे लेकर प्रेमी के साथ नागपुर भागकर आई एक महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक महिला का नाम सुजाता मनीषनाथ पहरवा (29) है। सुजाता पति मनीषनाथ का घर छोड़कर अपने कथित प्रेमी विनय नाथ के साथ भागकर नागपुर आई थी, जो दगाबाज निकला। कुछ समय तक उसके साथ  "लिव इन रिलेशनशिप' में रहने के बाद छोड़कर वापस सिवनी लौट गया। सुजाता बार- बार वह उसे बुलाती रही, लेकिन प्रेमी के नहीं लौटने पर उसने ओढ़नी से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली।  हालांकि मौत को गले लगाने से पहले उसने अपनी सारी कहानी सुसाइट नोट में लिख रखी थी। विनय नाथ ने सुजाता को अपने प्रेम जाल में फंसाया। विनय नाथ ने सुजाता के साथ जबरन संबंध भी बनाए। जिसके बाद सुजाता को लेकर वह नागपुर आ गया। सुजाता और विनय नाथ नागपुर के एमआईडीसी  स्थित अमर नगर में किराए के कमरे में पति-पत्नी की तरह रहने लगे थे। कुछ समय तक विनय नाथ उसे छोड़कर वापस सिवनी चला गया। सुजाता ने उसे बार-बार वापस बुलाया, लेकिन विनय नाथ के नहीं आने पर सुजाता ने बदनामी के डर से आत्महत्या कर ली। फांसी पर लटके उसके मकान मालिक ने जब खिड़की से देखा, तब पुलिस नियंत्रण कक्ष को सूचना दी। एमआईडीसी थाने के सहायक पुलिस निरीक्षक हत्तीगोटे सहयोगियों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस ने उस समय आत्महत्या का मामला दर्ज किया। जांच में यह बात सामने आई िक िकस तरह से आराेपी विनय नाथ उसे बहला-फुसलाकर उसे नागपुर लेकर आया और छोड़कर चला गया। पुलिस ने आरोपी विनय नाथ के खिलाफ सुजाता को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का मामला दर्ज कर पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

कमेंट करें
r3l2A
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।