comScore

समृद्धि महामार्ग के किनारे खड़े होंगे उद्योगों के टापू: उद्धव ठाकरे

समृद्धि महामार्ग के किनारे खड़े होंगे उद्योगों के टापू: उद्धव ठाकरे

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि हिंदू हृदयसम्राट बालासाहब ठाकरे महाराष्ट्र समृद्धि महामार्ग के किनारे उद्योगों के टापू का निर्माण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य में नए उद्योग शुरू करते समय उद्योगों का विकेंद्रीकरण होना चाहिए। समृद्धि महामार्ग बनाने समय उद्योगवार टापू बनाया जाना चाहिए। 

मंगलवार को मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए समृद्धि महामार्ग के काम की समीक्षा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि भौगोलिक परिस्थिति के अनुसार उद्योगवार टापू तैयार किया जाए। उन्होंने कहा कि महामार्ग पर अलग-अलग नोड करते समय उद्योग, कृषि, पर्यटन के अनुसार भौगोलिक परिस्थिति के अनुसार तैयारी की जाए।

वस्त्रोद्योग को भी गति देने का प्रयास होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने समृद्धि महामार्ग पर निश्चित अंतर पर ट्रॉमा केयर सेंटर बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कोरोना संकट के कारण यह बात ध्यान में आई कि जिस इलाके में उद्योग हैं वहां पर जनसंख्या घनत्व अधिक है। उस क्षेत्र में लॉकडाऊन करना पड़ रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के 24 जिलों को जोड़ने वाली इस परियोजना को जल्द पूरा किया जाए। प्रदेश के एमएसआरडीसी मंत्री एकनाथ शिंदे ने बताया कि 701 किमी लंबे महामार्ग के लिए 8311.15 हेक्टेयर जमीन का अधिग्रहण किया गया है। इस महामार्ग से 10 जिले सीधे जुड़ेंगे। जबकि 24 जिलों की सड़कें महामार्ग से जुडेंगी।

कमेंट करें
ZLnBM