भांडाफोड़ : फर्जी तरीके से इनपुट टैक्स क्रेडिट घोटाला, अब तक 3 हजार करोड़ की कर चोरी का खुलासा 

December 8th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। केंद्रीय वस्तु एवं सेवा कर (सीजीएसटी) मुंबई के अधिकारियों ने फर्जी तरीके से इनपुट टैक्स क्रेडिट हासिल करने के बड़े मामले का भंडाफोड़ किया है। अब तक की छानबीन में 35 करोड़ रुपए के फर्जी इनपुट टैक्स लेने की जानकारी सामने आई है। मामले का सरगना अधिकारियों के हत्थे चढ़ा है। वह मुंबई की 15 कंपनियों को बिना किसी सामान के लेन देन के फर्जी तरीके से बिल बनाकर दे रहा था।  आरोपी को सीजीएसटी कानून की धारा 69 के तहत गिरफ्तार किया गया है। कोर्ट में पेशी के बाद उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। मुंबई स्थित सीजीएसटी अधिकारी पिछले तीन महीनों से फर्जी तरीके से इनपुट टैक्स क्रेडिट हासिल करने के मामलों के खिलाफ अभियान चला रहे हैं। इस दौरान कर चोरी के 50 गिरोहों का भंडाफोड़ करते हुए 3 हजार करोड़ रुपए की कर चोरी का खुलासा किया है। मामले में अब तक 24 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। साथ ही 400 करोड़ रुपए का कर भी वसूला जा चुका है। सीजीएसटी मुंबई के एक अधिकारी ने बताया कि कर चोरी के इन मामलों को पकड़ना बेहद मुश्किल होता है क्योंकि आरोपी पढ़े लिखे और शातिर होते हैं। इसलिए आरोपियों तक पहुंचने के लिए बड़ी संख्या में आंकड़ों की छानबीन करनी पड़ती है। इसके अलावा विशेष खुफिया जानकारियों के आधार पर इस तरह के मामले पकड़े जाते हैं। इस तरह की कार्रवाई अहम होती है, जिससे इमानदारी से कर भरने वाले व्यापारियों को यह महसूस न हो कि कर चोरी बेहतर विकल्प है। इससे पहले शुक्रवार को ठाणे राज्य वस्तु एवं सेवा कर के अधिकारियों ने 12 करोड़ रुपए के इनपुट टैक्स क्रेडिट घोटाले का पर्दाफाश करते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार किया था।