दैनिक भास्कर हिंदी: लोकभारती से उम्मीदवार होंगे कपिल पाटील, शरद यादव से मिला समर्थन 

May 31st, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। विधान परिषद की मुंबई शिक्षक निर्वाचन सीट पर होने वाले चुनाव के लिए लोक भारती के उम्मीदवार कपिल पाटील होंगे। जबकि मुंबई स्नातक निर्वाचन सीट पर लोक भारती ने जालिंदर सरोदे को उम्मीदवारी दी है। लोक भारती के दोनों उम्मीदवारों को शरद यादव के नेतृत्व वाले नवगठित लोकतांत्रिक जनता दल का समर्थन हासिल है।

बुधवार को पाटील ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मुझे यादव का आशीर्वाद प्राप्त है। उन्होंने मुझसे कहा है कि कोई साथ आए या न आए, आप पूरी मजबूती से चुनाव लड़िए। पाटील ने कहा कि मैं लोक भारती के उम्मदीवार के रूप में मुंबई की शिक्षक सीट से लगातार दो बार निर्वाचित हुआ हूं। पहली बार लोकभारती मुंबई की स्नातक सीट पर भी लड़ने का फैसला किया है। मुंबई की शिक्षक सीट से फिलहाल पाटील ही विधायक हैं जबकि स्नातक सीट से प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री दीपक सावंत शिवसेना से विप के सदस्य हैं।

मुंबई शिक्षक सीट पर कड़ा मुकाबला होना तय है। इस सीट पर सत्ताधारी भाजपा और शिवसेना भी आमने -सामने है। भाजपा ने इस सीट से अनिल कुमार देशमुख को प्रत्याशी बनाया है। जबकि शिवसेना ने शिवाजी शेंडगे को उम्मीदवारी दी है। वहीं शिक्षक परिषद ने अनिल बोरनारे को टिकट दिया है। मुंबई की स्नातक सीट पर लोकभारती ने सरोदे को प्रत्याशी बनाया है। इस सीट पर शिवसेना खेमे में असमंजस नजर आ रहा है। सूत्रों के अनुसार पार्टी कैबिनेट मंत्री दीपक सावंत के बदले नया उम्मीदवार उतार सकती है।

शिवसेना पार्टी के सचिव व पक्ष प्रमुख उद्धव ठाकरे के निजी सहायक (पीए) मिलिंद नार्वेकर को उम्मीदवार बनाने पर विचार कर रही है। दूसरी तरफ कोंकण की स्नातक सीट से भाजपा ने राष्ट्रवादी कांग्रेस से विधायक रहे निरंजन डावखरे को उम्मीदवार बनाया है। राष्ट्रवादी कांग्रेस इस सीट पर नजिब मुल्ला को उतार सकती है।

मुल्ला राष्ट्रवादी कांग्रेस के विधायक जितेंद्र आव्हाड के समर्थक माने जाते हैं। ठाणे जिले की पार्टी की राजनीति में आव्हाड से मतभेद के कारण ही निरंजन ने राष्ट्रवादी कांग्रेस छोड़ दिया है। मुंबई की शिक्षक सीट पर लगभग 10 हजार मतदाता हैं जबकि स्नातक सीट पर करीब 62 हजार वोटर हैं।

विधान परिषद की मुंबई और नाशिक शिक्षक सीट और मुंबई और कोंकण स्नातक सीट पर 25 जून को मतदान होगा। जबकि 28 जून को चारों जगहों पर वोटों की गिनती होगी।

लोकभारती का होगा विलय
इससे पहले पाटील ने कहा कि यादव की नई पार्टी की चुनाव आयोग में पंजीयन प्रक्रिया जुलाई महीने तक पूरी हो जाएगी। इसके बाद लोक भारती का लोकतांत्रिक जनता दल में विलय किया जाएगा। पाटील ने कहा कि हमने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली जेडीयू में लोक भारती का विलय किया था लेकिन बाद में नीतीश ने भाजपा के साथ गठबंधन कर लिया। हमारा भाजपा जैसी फासिस्ट ताकतों के साथ से वैचारिक मतभेद हैं। इसलिए हमने नीतीश से अलग होने का फैसला किया है। हम अब शरद यादव के साथ हैं।