दैनिक भास्कर हिंदी: महाराष्ट्र में बढ़ी नोटा मतदाताओं की संख्या, 26 उम्मीदवारों को कम मिले वोट

May 24th, 2019

डिजिटल डेस्क, मुंबई। लोकसभा चुनाव में नोटा (इनमें से कोई पसंद नहीं) का बटन दबाने वालों की संख्या बढ़ी है। मतदान केंद्र तक जाकर किसी उम्मीदवार के पक्ष में वोट करने की बजाय सभी को नकारने वाले मतदाता बड़े शहरों से ज्यादा है। इस बार 4 लाख 88 हजार 766 मतदाताओं ने नोटा का इस्तेमाल किया। 2014 के लोकसभा में नोटा वाले मतदाताओं की संख्या 4 लाख 31 हजार 992 थी। राज्य की 48 लोकसभा सीटों के लिए हुए मतदान में कुल 5 करोड़ 38 लाख 42 हजार 296 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था। इनमें से 4 लाख 88 हजार 766 यानि 0.9 फीसदी मतदाताओं ने नोटा का इस्तेमाल किया। सबसे ज्यादा नोटा का इस्तेमाल गडचिरोली-चिमूर लोकसभा क्षेत्र में हुआ। यहां 24,418 लोगों ने नोटा का बटन दबाया। 2014 में भी यहां यह आकड़ा 24,488 का था। राज्य में नोटा को बसपा और एमआईएम जैसे दलों से ज्यादा वोट मिले हैं। ग्रामीण क्षेत्रों की तुलना में राजधानी मुंबई व पुणे में नोटा का अधिक इस्तेमाल हुआ है। मुंबई की 6 लोकसभा सीटों पर करीब 1.5 फीसदी वोट नोट के पक्ष में गए हैं। 

नोटा को सपा विधायक से ज्यादा वोट

मुंबई की सभी लोकसभा सीटों पर औसतन 10 हजार मतदाताओं ने किसी भी उम्मीदवार को पसंद न करते हुए नोटा का बटन दबाया। उत्तर-पश्चिम मुंबई से सपा उम्मीदवार विधायक सुभाष पासी से दोगुने से ज्यादा वोट नोटा को मिले हैं। उत्तर प्रदेश के गाजीपुर से सपा विधायक पासी को सिर्फ 5847 वोट मिले। जबकि इस लोकसभा क्षेत्र के 18 हजार 185 मतदाताओं ने नोटा को वोट दिया।     

लोकसभा क्षेत्र              नोटा वोट

नागपुर                       4538
अकोला                       8844
अमरावती                   5200
वर्धा                           6402
भंडारा-गोंदिया             6980
यवतमाल                   3910
औरंगाबाद                  4919
उत्तर मुंबई               11941
उत्तर-पश्चिम मुंबई    18185
उत्तर पूर्व मुंबई          12446
उत्तर मध्य मुंबई       10647
दक्षिण मध्य               8623
दक्षिण मुंबई             15071
बारामती                   7846
पुणे                         10972 

इन 26 उम्मीदवारों को नोटा से भी कम वोट मिले

उधर नागपुर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से किस्मत आजमानेवाले 30 प्रत्याशियों में से 26 उम्मीदवार ऐसे है, जिन्हें नोटा से भी कम वोट पड़े। यहां नोटा पर कुल 4578 वोट डले। भाजपा प्रत्याशी नितीन गडकरी के सामने केवल कांग्रेस उम्मीदवार नाना पटोले की ही जमानत बची। बाकी सभी उम्मीदवारों की जमानत जब्त हाे गई। भाजपा प्रत्याशी केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी को 6 लाख 60 हजार 221 वोट मिले, जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस प्रत्याशी नाना पटोले को 4 लाख 44 हजार 212 वोट मिले। गडकरी की 2 लाख 16 हजार 9 वोटों से जीत हुई। बहुजन समाज पार्टी के मो. जमाल को 31725 आैर वंचित बहुजन आघाडी के सागर डबरासे को 26128 वोट पड़े। हालांकि इनकी भी जमानत जब्त हो गई। बसपा का रिकार्ड देखे तो इस बार सबसे कम वोट मिले। बाकी बचे सभी 26 प्रत्याशियों को नोटा पर पड़े 4578 से भी कम वोट पड़े। वोटरों ने प्रत्याशियों को वोट देने की बजाय नोटा को चूना। 

उम्मीदवार               वोट 

अली अशफाक         724
आसिम अली           673
गोपाल कश्यप        1169
दीक्षिता टेंभुर्णे         273
डा. मनीषा बांगर     400
एड. सुरेश माने       3412
योगेश ठाकरे          281
वनिता राउत          480
एड. विजया बागडे   1182
विट्ठल गायकवाड     482
डा. विनोद बडोले     735
साहील तुरकार       2003
श्रीधर सालवे          2121
उदय बोरकर          1322
एड. उल्हास दुपारे    299
कार्तिक डोके          181
दीपक मस्के          235
प्रफुल्ल भांगे          359
प्रभाकर सातपैसे    156
मनोज बावणे         331
रुबेन फ्रांसिस         608
सचिन पाटील        633
सचिन सोमकुवर    227
सतीश निखार        237
सिध्दार्थ कुर्वे         247
सुनील कवाडे         417

 

खबरें और भी हैं...