दैनिक भास्कर हिंदी: बीजेपी के खिलाफ बैलगाड़ियों पर कांग्रेस का महामोर्चा, सरकार पर लगाए बड़े आरोप

October 16th, 2017

डिजिटल डेस्क, यवतमाल। केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार की नीतियों के विरोध में कांग्रेस ने बैलगाड़ी मोर्चा निकाला। इस दौरान कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक चव्हाण ने जनाक्रोश मोर्चे को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य में ढोंगी सरकारें राज कर रही है। जिससे जनता त्रस्त हो चुकी है। उन्होंने कीटनाशक छिड़काव से किसानों की मौत का मुद्दा उठाया और कहा कि कीटकनाशक को मंजूरी दी जाए या नहीं, हर सात वर्ष में इसका जायजा लेना पड़ता है। उसके बाद परिणाम देखकर ही मंजूरी दी जाती है। लेकिन केंद्र सरकार ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। नतीजतन 22 किसान और मजदूरों की जान चली गई। 

जीत का किया जिक्र

नांदेड़, वाघाला और पंजाब के गुरुदासपुर में कांग्रेस को मिली जीत का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा तीसरे स्थान पर होते हुए भी झूठे दावे कर रही है।  जब्कि गुजरात के व्यापारियों ने अपने बिलों पर एक ही भूल कमल का फूल तक प्रकाशित कर दिया है। यही हालत महाराष्ट्र के व्यापारियों की भी है। कांग्रेस के महामोर्चे में हजारों किसानों ने हिस्सा लेते हुए सरकार के खिलाफ नाराजगी जाहिर की। मोर्चे का नेतृत्व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण ने किया। उनके अलावा प्रदेश प्रभारी मोहन प्रकाश, विधान परिषद उपसभापति माणिकराव ठाकरे सहित जिला कांग्रेस के नेता शामिल थे। 

किसानों की कई मांगे

शराबबंदी, साहूकारों के चंगुल से किसानों की जमीनें छुड़ाने, जिले को सूखाग्रस्त घोषित करने, कपास के 7 हजार रुपए और सोयाबीन के 5 हजार रुपए प्रति क्विंटल दाम देने के साथ ही तुअर का भुगतान तुरंत करने जैसी मांगे उठाई गई। इसके अलावा लोडशेडिंग तत्काल बंद करने, छोटे व्यापारियों को जीएसटी में छूट देने, पेट्रोल- डीजल के दाम कम करने की मांगे भी प्रमुखता से उठाई गई। तिरंगा चौक में मोर्चा जनसभा में तब्दील हो गया। इस दौरान कार्यकर्ताओं के हाथों में नारों के बैनर पोस्टर दिखे। जिसमें केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ नाराजगी जताई गई। 

राज्य सरकार को बताया नरभक्षी 

महाराष्ट्र प्रभारी मोहन प्रकाश ने सरकार को नरभक्षी सरकार करार दिया। उन्होंने कहा कि कीटनाशक से 22 किसान, जबकि बाघ के हमले में 11 किसान अपनी जान गंवा चुके हैं। उन्होंने कहा कि यूपी के सीएम योगी ने जिस दिन गोरखपुर अस्पताल का दौरा किया, उसके दूसरे ही दिन से 30 बच्चों की मौत होने लगी थी। 

मौका आया तो देंगे त्यागपत्र - ठाकरे

विधान परिषद के उपसभापति माणिकराव ठाकरे ने कहा कि समय आने पर वो जनता के लिए अपने पद त्यागपत्र देंगे। उन्होंने कहा कि उपसभापति पद इन सरकारों की मेहरबानी नहीं है। बल्कि कांग्रेस विधायकों की संख्या अधिक होने के कारण उन्हें यह पद मिला है।  

विरोध का अनोखा तरीका

मोर्चे के दौरान यातायात बुरी तरह प्रभावित हुआ। किसान और मजदूरों को हो रही तकलीफों की ओर ध्यानाकर्षण के लिए कांग्रेस नेताओं ने बैलगाड़ियों पर खड़े होकर आंदोलन किया। कुछ ग्रामीण पारंपरिक वेशभूषा में ढोलक की थाप पर सरकार विरोधी गीत गाते दिखे। जो आंदोलन में विरोध का अलग ही तरीका दिखा।