comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

महाराष्ट्र की जेलों में हैं सबसे ज्यादा प्रवासी कैदी मौजूद

महाराष्ट्र की जेलों में हैं सबसे ज्यादा प्रवासी कैदी मौजूद

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महाराष्ट्र की जेलों में सबसे ज्यादा प्रवासी कैदी बंद हैं। इसके अलावा विदेशी कैदियों के मामले में भी पश्चिम बंगाल के बाद महाराष्ट्र का ही नंबर आता है। राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबित 31 दिसंबर 2019 तक महाराष्ट्र की जेलों में बंद कुल 9096 सजायाफ्ता कैदियों में से 800 दूसरे राज्यों के, जबकि 51 विदेशी थे। इसी तरह जेलों में बंद 27557 विचाराधीन कैदियों में से 4675 दूसरे राज्यों के जबकि 466 दूसरे देशों के नागरिक थे। राज्य की जेलों में बंद कुल कैदियों में से 16 फीसदी दूसरे राज्यों के हैं। यह न सिर्फ संख्या के हिसाब से बल्कि अनुपात के लिहाज से भी दूसरे राज्यों से काफी ज्यादा है। दूसरे राज्यों के कैदियों के मामले में महाराष्ट्र के बाद उत्तर प्रदेश और दिल्ली का नंबर आता है। उत्तर प्रदेश में विचाराधीन कैदियों में से 3470 दूसरे राज्यों के जबकि 363 विदेशी हैं। वहीं दिल्ली के विचाराधीन कैदियों में से 3453 दूसरे राज्यों के जबकि 384 विदेशी नागरिक हैं। सजायाफ्ता कैदियों की बात करें तो दिल्ली की जेलों में सजा काट रहे 855 कैदी दूसरे राज्यों के जबकि 96 विदेशी हैं। वहीं उत्तर प्रदेश में 479 सजायाफ्ता  कैदी दूसरे राज्यों के हैं जबकि 142 विदेशी हैं।

जेलों में बंद कैदी

कुल विचाराधीन कैदी- 330487
विदेशी विचाराधीन कैदी- 2979
प्रवासी विचाराधीन कैदी- 29300
राज्यों के विचाराधीन कैदी- 298208

देश की जेल में बंद सजायाफ्ता कैदी

कुल सजायाफ्ता कैदी -144125
विदेशी सजायाफ्ता कैदी -2171
प्रवासी सजायाफ्ता कैदी- 8726
राज्यों के सजायाफ्ता कैदी-133228
 

कमेंट करें
gQaCP