comScore

ओबीसी कोटे में आरक्षण न मांगे मराठा, शेंडगे ने कहा- इससे दोनों समुदायों में बढ़ेगा संघर्ष 

ओबीसी कोटे में आरक्षण न मांगे मराठा, शेंडगे ने कहा- इससे दोनों समुदायों में बढ़ेगा संघर्ष 

डिजिटल डेस्क, मुंबई। पूर्व विधायक तथा ओबीसी नेता प्रकाश शेंडगे ने चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि महाराष्ट्र में ओबीसी आरक्षण को धक्का लगा तो संघर्ष अटल है। उन्होंने कहा कि मराठा समाज के नेताओं को मराठा समाज के लिए ओबीसी कोटे से आरक्षण नहीं मांगना चाहिए। मंगलवार को ओबीसी वीजेएनटी संघर्ष समिति की ओर से आयोजित पत्रकार परिषद में शेंडगे ने कहा कि मराठा समाज के कुछ नेताओं की नजर अब ओबीसी कोटे के आरक्षण पर है। ये नेता ओबीसी और वीजेएनटी आरक्षण को गैर कानूनी बता रहे हैं। ओबीसी आरक्षण को लेकर भड़काऊ बयान दे रहे हैं। लेकिन मराठा समाज से मेरा आग्रह है कि ओबीसी कोटे का आरक्षण लेने की कोशिश न करे। शेंडगे ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा मराठा आरक्षण पर रोक के बाद अब मराठा समाज को आरक्षण कहां से दिया जाएगा इसका जवाब किसी के पास नहीं है।

मराठा आरक्षण के लिए कई विकल्प सुझाए जा रहे हैं। लेकिन हमें लगता है कि उससे रास्ता नहीं निकलने वाला है। यह भी नहीं कहा जा सकता कि सुप्रीम कोर्ट में मराठा आरक्षण का मामला कितने साल तक चलेगा। लेकिन राज्य में मराठा समाज को आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) के 10 प्रतिशत आरक्षण का लाभ मिल सकता है। इसके लिए मराठा समाज को प्रयास करना चाहिए। शेंडगे ने कहा कि राज्य सरकार ने शासनादेश जारी कर कहा है कि ईडब्ल्यूएस आरक्षण का लाभ मराठा समाज को नहीं मिल सकता। सरकार को संबंधित शासनादेश को तत्काल वापस लेना चाहिए। शेंडगे ने कहा कि हमने तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को चेताया था कि मराठा आरक्षण सुप्रीम कोर्ट में टिक नहीं पाएगा लेकिन उस समय फडणवीस ने कोई कदम नहीं उठाया। 

 
 

कमेंट करें
9QeG6