comScore

कर्ज से परेशान मेस संचालक ने की खुदकुशी, धमका रहा था अवैध साहूकार

कर्ज से परेशान मेस संचालक ने की खुदकुशी, धमका रहा था अवैध साहूकार

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कर्ज से त्रस्त होकर एक मेस संचालक ने जहर पीकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि अवैध साहूकार ने पुलिस की मदद से व्यक्ति को धमकाने व पत्नी से भी अभद्र बर्ताव से आहत होकर सुनील ने यह कदम उठाया।  मृतक सुनील पौनिकर (42) जूनी मंगलवारी स्थित चांदेकर माेहल्ला निवासी था। अपने घर से ही सुनील पत्नी वैशाली के साथ मेस चलाता था। सुनील को सट्टे का भी शौक था। क्रिकेट मैच पर वह लाखों रुपया उड़ा चुका है। पत्नी वैशाली और सुनील के भाई प्रवीण ने बताया कि गत सप्ताह उनके घर में विशाल और प्रीति नामक महिला पांचपांवली थाने के तीन पुलिसकर्मियों को लेकर आई थी, तब वैशाली को पता चला कि उसके पति सुनील ने िकसी से पांच लाख रुपए लिए है, यह लोग वसूली के लिए घर पहुंचे थे। करीब तीन से चार बार पुलिस वाले घर आए है। जिसके चलते वैशाली ने पांचपांवली और लकड़गंज थाने के जांच पड़ताल की तो पता चला कि उसके पति के खिलाफ कोई प्रकरण दर्ज नहीं था। 

बगैर वारंट के पुलिस ने प्रीति और विशाल के कहने पर सुनील और उसके भाइयों के कमरों की तलाशी ली। वैशाली से भी अभद्र बर्ताव कर रकम वसूल करने की धमकी भी दी थी। इससे त्रस्त होकर 27 नंवबर की दोपहर करीब 2.30 बजे के दौरान सुनील ने जहरीली दवा का सेवन िकया। उसी दिन सुनील को घर के समीप ही बाबूलबन प्राथमिक स्कूल के मैदान पर बेहोशी की हालत में पाया गया था। परिजन पहले निजी और बाद में मेडिकल अस्पताल में ले गए। जहां शनिवार की दोपहर सुनील ने दम तोड़ दिया। पत्नी वैशाली और भाई प्रवीण का आरोप है कि सुनील की मौत के लिए प्रीति,विशाल और पांचपांवली थाने के वह पुलिस कर्मी जिम्मेदार हैं, जिन्होंने उसे धमकाया था।  इस संबंध में प्रीति से संपर्क करने पर उसने बताया कि वह सामाजिक कार्यकर्ता होने की वजह से पुलिस उसे साथ ले गई थी।

उल्लेखनीय है कि पुलिस को कई छापा मारना हो तो बतौर पंच के तौर पर सामाजिक कार्यकर्ता को ले जाया जाता था। यहां पर यह सवाल उठ रहा है कि पुलिस ने घर में कोई छापा नहीं मारा। ऐसा सुनील की पत्नी और उसके भाइयों का कहना है। वैशाली और सुनील ने यह भी बताया कि सुनील सट्टा खेलता था। उसके खिलाफ लकड़गंज में कुछ मामले भी दर्ज है, लेकिन मामला सट्टे का नहीं है। पुलिस की मदद से बगैर कोई शिकायत सीधे तौर पर यह वसूली करने का मामला होने का आरोप सुनील की पत्नी और अन्य परिजनों ने लगाया है। 

मेरे सामने ऐसा कोई मामला नहीं आया 
चार दिन पहले पांचपांवली थाने का बतौर वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक के तौर पर मैने चार्ज लिया, लेकिन मेरे रहते हुए सुनील पौनीकर के खिलाफ कोई मामला मेरे सामने नहीं आया। यदि मेरे चार्ज लेने से पहले की बात होगी तो इस बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है, लेकिन मेरे सामने ऐसा कोई मामला नहीं आया है। 
किशोर नगराले, पुलिस निरीक्षक, पांचपांवली थाना, नागपुर शहर

पुलिस स्टेशन में दर्ज है मामला 
पांचपांवली थाना क्षेत्र में मेरा रहना है। थाने की समिति मैं सदस्य हूं। सुनील के खिलाफ प्रकरण दर्ज होने से पुलिस मुझे अपने साथ सुनील के घर ले गई थी। इस बारे में पुलिस से जानकारी लें कि मैं समिति में हूं या नहीं। 
प्रीति दास, सामाजिक कार्यकर्ता, नागपुर

 

कमेंट करें
bpBKt