दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर में मेट्रो कोच फैक्टरी : टेंडर प्रक्रिया पूरी, बुटीबोरी में तलाशी जा रही जगह

August 18th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मेट्रो कोच की फैक्टरी लगाने के लिए शनिवार को टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। यह टेंडर भारत की टीयगढ़ फरेमा नामक कंपनी को मिला है। फैक्टरी लगाने के लिए फिलहाल बुटीबोरी में जगह की तलाश की जा रही है। इसे साकार होने में करीब डेढ़ से दो वर्ष का समय लग सकता है। उसके बाद इस फैक्टरी में पुणे मेट्रो के लिए कोच का निर्माण किया जाएगा। पुणे मेट्रो के लिए 102 कोच की जरूरत होगी, जिसमें 25 प्रतिशत कोच इटली में बनाए जाएंगे और 75 प्रतिशत कोच नागपुर में बनाए जाएंगे। यह जानकारी मेट्रो के जनसंपर्क विभाग ने दी है। 

कुछ माह पूर्व की गई थी घोषणा

कुछ माह पूर्व नागपुर में माझी मेट्रो का पहला सेक्शन बर्डी-टू-खापरी शुरू किया था। वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से प्रधानमंत्री ने इसे हरी झंडी दिखाई थी। उस समय पुणे मेट्रो के लिए नागपुर में कोच बनाने का ऐलान किया गया था। बाद में कोच निर्माण के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर टेंडर निकाले गए थे, जिसमें भारत की टीयगढ़ फरेमा कंपनी को टेंडर मिला। यह कंपनी नागपुर में ही मेट्रो के मेनुफेक्चरिंग प्लांट में लगभग 75 कोच का निर्माण करनेवाली है। फिलहाल इस प्लांट का निर्माण होना बाकी है, लेकिन बुटीबोरी में इसके लिए जगह देखने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। पुणे में दो सेक्शन शुरू किए जानेवाले हैं। अब तक मेट्रो में स्टेनलेस स्टील के कोच चलाये जा रहे हैं, लेकिन पुणे मेट्रो के लिए एल्युमीनियम के कोच बनाए जाएंगे। ये कोच दूसरे कोच की तुलना ज्यादा हलके, सुंदर व आकर्षक होंगे। पहले 3 कोचवाली मेट्रो चलाई जानेवाली है। धीरे-धीरे जरूरत बढ़ने पर कोच की संख्या बढ़ाकर 6 की जानेवाली है। यह कोच पूरी तरह से वातानुकूलित होंगे। कोच में कैमरे लगे रहेंगे और हर सीट पर आपातकाल के लिए पैनिक बटन भी रहेगी, जिसका उपयोग सामान्य यात्री, महिला एवं दिव्यांग यात्री भी कर सकेंगे। इसकी अधिकतम रफ्तार 95 किमी होगी। नागपुर की मेट्रो के लिए लगभग 75 कोच की जरूरत थी, जिसे चीन से मंगाया जा रहा है, लेकिन पुणे के लिए नागपुर से ही कोच बनाकर वहां भेजे जाएंगे।

मिहान में एचसीएल को मिली 160 एकड़ जमीन

मल्टी मॉडल इंटरनेशनल कार्गो हब एडं एयरपोर्ट एट नागपुर (मिहान) में एचसीएल अपनी कंपनी का विस्तार कर रही है। इसी विस्तार के चलते एचसीएल में स्पेशल इकोनॉमी जोन (सेज) और नॉन सेज में 110 एकड़ जमीन ली है। इसी जमीन काे लेकर रविवार को मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टेंडिंग (एमओयू)  पर एचसीएल और महाराष्ट्र एयरपोर्ट डेवलपमेंट कंपनी (एमएडीसी) हस्ताक्षर करने वाली हैं। मिहान के सेज में एचसीएल के पास 50 एकड़ जमीन थी। इसके बाद उसने मिहान के सेज में 90 एकड़ जमीन ली। इससे सेज में उसके पास 140 एकड़ जमीन हो गई। वहीं नॉन सेज में भी 20 एकड़ जमीन ली। इससे एचसीएल के पास कुल 160 एकड़ जमीन हो चुकी है। खरीदी गई जमीन पर एचसीएल और एमएडीसी के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर करने के िलए रविवार 18 अगस्त को वर्धा रोड स्थित ले मेरेडियन में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी, मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस, पालकमंत्री चंद्रशेखर बावनकुले, विधायक समीर मेघे, एमएडीसी के उपाध्यक्ष सुरेश काकाणी, एचसीएल टेक्नोलॉजी के कार्पोरेट उपाध्यक्ष संजय गुप्ता प्रमुख रूप से उपस्थित रहेंगे।

खबरें और भी हैं...