दैनिक भास्कर हिंदी: समुद्री मार्ग से मेट्रो के 9 कोच पहुंचे और 6 पहुंचेंगे , शीघ्र शुरू होगी एक्वा लाइन

August 27th, 2019

डिजिटल डेस्क,नागपुर। मध्यरात्रि चेन्नई से 9 मेट्रो कोच नागपुर लाए गए। उन्हें मिहान व हिंगना डिपो में रखा गया है।  6 कोच शीघ्र ही नागपुर पहुंचने वाले हैं, जो फिलहाल चेन्नई में है। इस माह चीन के डालियन से कुल 15 कोच समुद्री मार्ग से देश में लाए गए। एक्वा लाइन को शुरू करने की जद्दोजहद के बीच मेट्रो कोच का आना सितंबर माह में एक्वा लाइन को शुरू करने का संकेत माना जा रहा है। 

कोच की संख्या 24 हुई

नागपुर शहर में लोकल परिवहन व्यवस्था को मजबूत करने के लिए मेट्रो अपनी उपस्थिति दिखाने लगी है। बर्डी इंटरचेंज स्टेशन से खापरी के लिए महीनों पहले ही मेट्रो को शुरू किया गया है। इसके बाद लोकमान्य नगर हिंगना से बर्डी तक की एक्वा लाइन को शुरू करने की दिशा में कार्य तेजी पर है। 15 अगस्त को इस सेक्शन में एक सफल ट्रायल राइड भी हुई है। इसके बाद से संबंधित अधिकारियों से लेकर कर्मचारी इसे शुरू करने की जद्दोजहद में लगे हैं। अभी तक मेट्रो रेल की कमी की आशंका थी, लेकिन अब वह भी दूर हो गई है। इसी माह में चीन के डालियन से 5 मेट्रो रेल यानी 15 कोच देश में पहुंचे हैं। इसमें 3 कोच को रविवार को बाय रोड नागपुर लाया गया है। पहले से नागपुर में मेट्रो के 15 कोच हैं। ऐसे में नए 9 कोच आने से इसकी संख्या 24 हो गई है। जल्दी यह संख्या और भी बढ़नेवाली है। 

हाईकोर्ट से 16 आयुर्वेद कॉलेजों को नोटिस

राज्य सरकार द्वारा विविध सरकारी विभागों के तृतीय और चतुर्थश्रेणी कर्मचारियों को सेवानिवृत्ति योजना के तहत कई प्रकार के लाभ दिए जाते हैं, लेकिन आयुर्वेदिक कॉलेजों के गैर-शिक्षक कर्मचारियों को सेवानिवृत्ति लाभ नहीं दिया गया। इस मुद्दे पर केंद्रित याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर खंडपीठ ने राज्य के 16 आयुर्वेदिक कॉलेजों को नोटिस जारी किया है।  हाईकोर्ट ने उन्हें चार सप्ताह में जवाब मांगा है। आयुर्वेद कॉलेज शिक्षकेत्तर कर्मचारी कृति संगठन ने हाईकोर्ट में यह याचिका दायर कर है। याचिकाकर्ता के अनुसार, राज्य के आयुर्वेदिक कॉलेजों में 700 से अधिक तृतीय व चतुर्थश्रेणी कर्मचारी हैं, लेकिन 12 वर्ष से अधिक सेवा देने के बाद भी उन्हें पदोन्नति नहीं दी गई। जो सेवानिवृत्त हो गए, उन्हें सेवानिवृत्ति लाभ भी नहीं दिए जा रहे हैं। याचिकाकर्ता की ओर से एड.अश्विन देशपांडे ने पक्ष रखा। 

खबरें और भी हैं...