comScore

महाराष्ट्र की सत्ता में नागपुर का कद कायम, फड़णवीस बोले- 6 माह में गिर जाएगी सरकार

महाराष्ट्र की सत्ता में नागपुर का कद कायम, फड़णवीस बोले- 6 माह में गिर जाएगी सरकार

डिजिटल डेस्क, नागपुर। महाराष्ट्र की सत्ता में नागपुर का कद कायम है। पिछली सरकार का नेतृत्व यहां के विधायक देवेंद्र फडणवीस ने किया। वे मुख्यमंत्री थे। लिहाजा नागपुर का सत्ता के मामले में कद बढ़ा था। अब 4 प्रमुख मंत्री, विधानसभा अध्यक्ष व नेता प्रतिपक्ष यहीं से हैं। गृहमंत्री अनिल देशमुख नागपुर जिले की काटोल विधानसभा सीट से जीते हैं। उनका घर नागपुर में जीपीओ चौक में है। ऊर्जामंत्री नितीन राऊत उत्तर नागपुर के विधायक हैं। वे बेझनबाग में रहते हैं। पशुसंवर्धन मंत्री सुनील केदार सावनेर के विधायक हैं। वे सिविल लाइन नागपुर में रहते हैं। भूकंप व पुनवर्सन सहित अन्य मामलों के मंत्री विजय वडेट्‌टीवार का घर रामदासपेठ में हैं। वे चंद्रपुर जिले की ब्रम्हपुरी विधानसभा सीट से चुनाव जीते हैं। विधानसभा अध्यक्ष नाना पटोले का घर रहाटेकालोनी में हैं। वे भंडारा जिले की साकोली विधानसभा सीट से चुनाव जीते हैं। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस का घर धरमपेठ में है। 

जिप चुनाव के बाद मंत्री लगेंगे काम पर 

फिलहाल राज्य में नागपुर सहित 6 जिलों में जिला परिषद के चुनाव चल रहे है। 7 जनवरी को मतदान होगा। इन चुनावों में सभी दल के नेता व्यस्त रहे । मंत्री अनिल देशमुख, नितीन राऊत  व सुनील केदार ने जिले में कांग्रेस व राकांपा के उम्मीदवरों के लिए चुनाव प्रचार किया। बताया जा रहा है कि मंगलवार को ज्यादातर मंत्री मुंबई में पदग्रहण करेंगे। मंत्रियों को बंगला आबंटित किया जा चुका है। 

नितीन राऊत बोले- मेरा सौभाग्य है कि मुझे महाराष्ट्र को ऊर्जावान करने का मौका मिला

राज्य मंत्रिमंडल के विस्तार के बाद ऊर्जामंत्री बनाए गए डॉ.नितीन राऊत ने कहा है कि नई जिम्मेदारी से वे खुश हैं। उन्होंने कहा-स्वतंत्रता के पहले अंगरेज सरकार के समय व बाद में जवाहरलाल नेहरु के नेतृत्व की सरकार में बाबासाहब आंबेडकर ऊर्जामंत्री बने थे। राज्य का ऊर्जामंत्री बनाए जाने को वे अपना सौभाग्य मानते हैँ। राज्य को ऊर्जावान करने का मौका मिला है। इस जवाबदारी को पूरा करेंगे। राज्य में महाविकास आघाड़ी की सरकार के गठन के बाद राऊत को पीडब्ल्यू सहित अन्य विभागों का मंत्री बनाया गया था। बाद में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंत्रिमंडल का विस्तार किया। राऊत को ऊर्जामंत्री बनाया गया है। पीडब्ल्यू विभाग की जिम्मदारी पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण को दी गई है। संवाद माध्यम के प्रतिनिधियों से चर्चा में राऊत ने कहा कि उन्हें पहले से जानकारी थी कि ऊर्जामंत्री बनाया जा रहा है। कांग्रेस के मंत्रियों के नाम चयन करनेवाली टीम में वे भी रहे हैं। प्रश्न यह नहीं हैं कि मंत्रिमंडल में किस क्रमांक का स्थान मिला। महत्व इसका रहेगा कि जवाबदारी को कैसे निभा पाते हैं। विभाग की गरिमा का ध्यान भी रखना होता है। राज्य को भाजपामुक्त करने के लिए महाविकास विकास आघाड़ी की सरकार बनी है। यह सरकाार 5 साल का कार्यकाल पूरा करेगी। राज्य को लोडशेडिंग मुक्त करने की दिशा में काम किया जाएगा। हर घर में बिजली पहुंचेगी। महाराष्ट्र छत्तीसगढ़ सीमा क्षेत्र में बिजली के दाम में अंतर है। उस अंतर को दूर किया जाएगा। औद्योगिक क्षेत्र काे मांग के अनुरुप सहूलियत के साथ बिजली दी जाएगी। किसानों को अधिक राहत दी जाएगी। ऊर्जा विभाग के प्रलंबित कार्यों को सबसे पहले पूरा करेंगे। नागपुर जिले का पालकमंत्री बनाने के प्रश्न  पर राऊत ने कहा कि यह निर्णय मुख्यमंत्री लेंगे। केंद्र सरकार की किसी भी योजना को प्रभावित करने की कोई योजना नहीं है। लेकिन वे मानते हुैं कि केंद्र की कोई विकास योजना ही नहीं है। केवल मंदिर, कश्मीर, नागरिकता के मामले पर केंद्र की सरकार काम कर रही है। सामान्य लोगों के विकास की योजना नहीं दिखती है। 

बेईमान है सरकार, 6 माह में गिर जाएगी-फड़णवीस 

उधर महाविकास आघाड़ी सरकार पर निशाना साधते हुए विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस ने कहा है कि यह सरकार बेईमान है। 6 माह में गिर जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार केवल मूर्ख बनाने का काम कर रही है। रविवार को जिले में जिला परिषद चुनाव के प्रचार के अंतिम दिन एक सभा को संबोधित करते हुए फडणवीस ने कहा कि किसानों के भले का दावा कर रही सरकार ने किसानों को भगवान भरोसे छोड़ रखा है। पहले अतिवृष्टि अब ओलावृष्टि से फसल बर्बाद हुई है। गहरे संकट में फंसे किसानों को राहत देने के बजाय सरकार केवल मूर्ख बनाए जा रही है। विधानसभा चुनाव में राज्य में भाजपा गठबंधन को जनादेश मिला। 105 विधायकों के साथ पहले क्रमांक पर रहने के बाद भी भाजपा सत्ता से बाहर है। शिवसेना ने साथ मिलकर चुनाव लड़ा लेकिन सत्ता के लिए दूसरों से हाथ मिला लिया। जिस तरह से यह सरकार बनी है उससे वह 6 माह में गिर जाएगी। सरकार ने किसानों को अतिरिक्त राहत देने का वादा नहीं निभाया है। सरकार ने घोषित की कर्जमाफी धोखेबाजी है। 50 लाख किसानों का 19 हजार करोड का कर्ज भाजपा के नेतृत्व की सरकार ने ही पंचवार्षिक योजना में माफ किए थे। सरकार दावा कर रही है कि किसानों को कर्जमुक्त ही नहीं चिंतामुक्त करेगी। लेकिन किसानों को राहत नहीं दी जा रही है। किसानों का सातबारा कोरा नहीं किया गया है। अक्टूबर 2019 से दो बार आपदा आयी। सरकार ने जो घोषणा की है उससे अक्टूबर के बाद के नुकसान की भरपाई नहीं की जाएगी। नववर्ष पर हुई ओलावृष्टि का सर्वे नहीं किया गया है। धान, कपास, सोयाबीन व संतरा की फसल को नुकसान हुआ है। सरकार ने शिवथाली की योजना लायी है। लेकिन उस योजना का लाभ भी केवल 18 हजार लोगोें को ही मिल पाएगा। नागपुर जिले के नरखेड क्षेत्र के खैरगांव में फडणवीस किसानों को संबोधित कर रहे थे। 

कमेंट करें
KBboc
NEXT STORY

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

डिजिटल डेस्क, भोपाल। 21वीं सदी में भारत की राजनीति में तेजी से बदल रही हैं। देश की राजनीति में युवाओं की बढ़ती रूचि और अपनी मौलिक प्रतिभा से कई आमूलचूल परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं। बदलते और सशक्त होते भारत के लिए यह राजनीतिक बदलाव बेहद महत्वपूर्ण साबित होगा ऐसी उम्मीद हैं।

अलबत्ता हमारी खबरों की दुनिया लगातार कई चहरों से निरंतर संवाद करती हैं। जो सियासत में तरह तरह से काम करते हैं। उनको सार्वजनिक जीवन में हमेशा कसौटी पर कसने की कोशिश में मीडिया रहती हैं।

आज हम बात करने वाले हैं मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस (सोशल मीडिया) प्रभारी व राष्ट्रीय समन्वयक, भारतीय युवा कांग्रेस अभय तिवारी से जो अपने गृह राज्य छत्तीसगढ़ से जुड़े मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं और छत्तीसगढ़ को बेहतर बनाने के प्रयास के लिए लामबंद हैं।

जैसे क्रिकेट की दुनिया में जो खिलाड़ी बॉलिंग फील्डिंग और बल्लेबाजी में बेहतर होता हैं। उसे ऑलराउंडर कहते हैं अभय तिवारी भी युवा तुर्क होने के साथ साथ अपने संगठन व राजनीती  के ऑल राउंडर हैं। अब आप यूं समझिए कि अभय तिवारी देश और प्रदेश के हर उस मुद्दे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लगातार अपना योगदान देते हैं। जिससे प्रदेश और देश में सकारात्मक बदलाव और विकास हो सके।

छत्तीसगढ़ में नक्सल समस्या बहुत पुरानी है. लाल आतंक को खत्म करने के लिए लगातार कोशिशें की जा रही है. बावजूद इसके नक्सल समस्या बरकरार है।  यह भी देखने आया की पूर्व की सरकार की कोशिशों से नक्सलवाद नहीं ख़त्म हुआ परन्तु कांग्रेस पार्टी की भूपेश सरकार के कदम का समर्थन करते हुए भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर अभय तिवारी ने विश्वास जताया है कि कांग्रेस पार्टी की सरकार एक संवेदनशील सरकार है जो लड़ाई में नहीं विश्वास जीतने में भरोसा करती है।  श्री तिवारी ने आगे कहा कि जितने हमारे फोर्स हैं, उसके 10 प्रतिशत से भी कम नक्सली हैं. उनसे लड़ लेना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन विश्वास जीतना बहुत कठिन है. हम लोगों ने 2 साल में बहुत विश्वास जीता है और मुख्यमंत्री के दावों पर विश्वास जताया है कि नक्सलवाद को यही सरकार खत्म कर सकती है।  

बरहाल अभय तिवारी छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री बघेल के नक्सलवाद के खात्मे और छत्तीसगढ़ के विकास के संबंध में चलाई जा रही योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए निरंतर काम कर रहे हैं. ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने यह कई बार कहा है कि अगर हथियार छोड़ते हैं नक्सली तो किसी भी मंच पर बातचीत के लिए तैयार है सरकार। वहीं अभय तिवारी  सर्कार के समर्थन में कहा कि नक्सली भारत के संविधान पर विश्वास करें और हथियार छोड़कर संवैधानिक तरीके से बात करें।  कांग्रेस सरकार संवेदनशीलता का परिचय देते हुए हर संभव नक्सलियों को सामाजिक  देने का प्रयास करेगी।  

बीते 6 महीने से ज्यादा लंबे चल रहे किसान आंदोलन में भी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से अभय तिवारी की खासी महत्वपूर्ण भूमिका हैं। युवा कांग्रेस के बैनर तले वे लगातार किसानों की मदद के लिए लगे हुए हैं। वहीं मौजूदा वक्त में कोरोना की दूसरी लहर के बाद बिगड़ी स्थितियों में मरीजों को ऑक्सीजन और जरूरी दवाऐं निशुल्क उपलब्ध करवाने से लेकर जरूरतमंद लोगों को राशन की व्यवस्था करना। राजनीति से इतर बेहद जरूरी और मानव जीवन की रक्षा के लिए प्रयासरत हैं।

बहरहाल उम्मीद है कि देश जल्दी करोना से मुक्त होगा और छत्तीसगढ़ जैसा राज्य नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ देगा। देश के बाकी संपन्न और विकासशील राज्यों की सूची में जल्द शामिल होगा। लेकिन ऐसा तभी संभव होगा जब अभय तिवारी जैसे युवा और विजनरी नेता निरंतर रणनीति के साथ काम करेंगे तो जल्द ही छत्तीसगढ़ भी देश के संपन्न राज्यों की सूची में शामिल होगा।