दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर में शिवशाही के लिए बनेगा स्वतंत्र बस अड्‌डा, लाल बसें अन्य डिपो में शिफ्ट

January 22nd, 2020

डिजिटल डेस्क,  नागपुर। दिन-ब-दिन गणेशपेठ बस स्टैंड में शिवशाही बसों का प्रमाण बढ़ता जा रहा है, लेकिन लाल बसों की उपस्थिति के कारण इन बसों को रखने में प्रशासन को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए हाल ही में गणेशपेठ को अब पूरी तरह शिवशाही बसों का अड्‌डा बनाने के दिशा-निर्देश जारी हुए हैं। आने वाले समय में यहां की सभी लाल बसों को अन्य डिपो में शिफ्ट किया जाएगा। 

आवागमन में मुख्य साधन की भूमिका निभाने वाली एसटी बसों का मुख्य अड्‌डा नागपुर के लिए गणेशपेठ बस स्टैंड है। जहां से रोजाना 1370 बसें विभिन्न दिशा की ओर चलती हैं। 40 हजार से ज्यादा यात्री यहां की व्यवस्था पर निर्भर रहते हैं। 4 वर्ष पहले तक यहां पूरी तरह से लाल बसों का राज था, लेकिन इसके बाद शिवशाही बस ने दस्तक दी। लंबी, बड़ी व एसी बस यात्रियों के लिए आकर्षण का केंद्र बनी। निजी बसों की ओर जाने वाले यात्री अब शिवशाही बसों की ओर ही आकर्षित हो रहे हैं। जिससे एसटी महामंडल का राजस्व भी बढ़ रहा है। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए शिवशाही बसों की संख्या यहां तेजी से बढ़ाने का निर्णय लिया गया।

वर्तमान स्थिति
वर्तमान स्थिति में गणेशपेठ बस स्टैंड से 116 बसें संचालित होती हैं। इन बसों में 34 बसें प्रशासन के खुद की शिवशाही बसें हैं। वहीं 20 प्राइवेट बसें हैं। बाकी लाल बसें हैं। जल्द ही इस व्यवस्था को बदला जाएगा। हाल ही में मुंबई में हुई एक बैठक में परड, औरंगाबाद और नागपुर को स्वतंत्ररूप से शिवशाही पोर्ट करने के दिशा-निर्देश दिए गए हैं। नागपुर में बसों का मुख्य अड्‌डा गणेशपेठ है, ऐसे में यही पर पोर्ट बनाने की जानकारी सूत्रांे ने दी। ताकि यात्रियों को यहां से हाईटेक सुविधा मिल सके। इसके लिए नए 20 प्लेटफार्म भी बनाए गए हैं। जिससे वर्तमान स्थिति में बने प्लेटफार्म मिलाकर कुल 41 प्लेटफार्म की संख्या हो गई है। इसके अलावा यात्रियों के लिए हाईटेक सुविधा भी परिसर में दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...